जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सामूहिक विवाह कार्यक्रम में आखिर क्यों नहीं दिखीं ब्लॉक प्रमुख गीता देवी, होती रही चर्चा
कुछ जगहों पर महिला या दलित समाज के जनप्रतिनिधियों को या तो कार्यक्रम में शामिल नहीं किया जाता या तो उन्हें केवल निमंत्रण भेज कर इतिश्री कर ली जाती है। कुछ ऐसा ही हाल शुक्रवार को शहाबगंज विकासखंड के सामूहिक विवाह के कार्यक्रम में दिखायी दिया। जहां पर महिला ब्लॉक प्रमुख महोदया की अनुपस्थिति कुछ लोगों को जरूर खली।
 

तीनों दिग्गजों के सामने किसी ने उनका जिक्र नहीं किया,

इसलिए उन्हें केवल कागजी निमंत्रण देकर इस कार्यक्रम से दूर रखा गया। 

आमतौर पर देखा जाता है कि ब्लॉक मुख्यालय पर होने वाले मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम में स्थानीय ब्लाक प्रमुख और खंड विकास अधिकारी की भूमिका प्रमुख होती है, लेकिन कुछ जगहों पर महिला या दलित समाज के जनप्रतिनिधियों को या तो कार्यक्रम में शामिल नहीं किया जाता या तो उन्हें केवल निमंत्रण भेज कर इतिश्री कर ली जाती है। कुछ ऐसा ही हाल शुक्रवार को शहाबगंज विकासखंड के सामूहिक विवाह के कार्यक्रम में दिखायी दिया। जहां पर महिला ब्लॉक प्रमुख महोदया की अनुपस्थिति कुछ लोगों को जरूर खली।

चंदौली जिले के शहाबगंज विकासखंड में शुक्रवार को 44 जोड़ों की शादी कराई गई। धूमधाम से हुए इस भव्य आयोजन में 42 हिंदू जोड़ों का वैदिक मंत्रोचार के साथ और दो मुस्लिम जोड़े का मौलवी के द्वारा निकाह कराया गया। इस दौरान जनपद के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष छत्रबली सिंह व जिला पंचायत अध्यक्ष दीनानाथ शर्मा और तत्कालीन खंड विकास अधिकारी दिनेश सिंह तो हर जगह दिखे, लेकिन शहाबगंज विकासखंड की ब्लॉक प्रमुख की अनुपस्थिति हर किसी को खटक रही थी।

Block Pramukh

 हालांकि इन तीनों दिग्गजों के सामने किसी ने उनका जिक्र नहीं किया, लेकिन पंडाल में आए लोग व कार्यक्रम में बैठे राजनेता और मीडिया के लोग ब्लॉक प्रमुख को जरूर खोजते नजर आए। साथ ही इस बात पर जरूर चर्चा करते रहे कि आखिर खंड विकास अधिकारी ने ब्लाक प्रमुख महोदया को इस कार्यक्रम में उस तरह से आमंत्रित नहीं किया, जिस तरह से सम्मान देकर बाकी अन्य जगहों पर ब्लाक प्रमुख को तवज्जो दी जाती है।

 कुछ जगह ऐसी भी चर्चा होती रही की पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष छत्रबली सिंह के आगे महिला ब्लॉक प्रमुख को सम्मान दिया जाना मुश्किल हो जाता.. इसलिए उन्हें केवल कागजी निमंत्रण देकर इस कार्यक्रम से दूर रखा गया। 

आपको बता दें कि शहाबगंज में तियरी गांव की रहने वाली गीता देवी को ब्लॉक प्रमुख चुना गया है। वह कुछ कार्यक्रमों में शामिल हुआ करती थीं, लेकिन इतने बड़े आयोजन में उनकी अनुपस्थिति लोगों को खटकती रही।

 जब इस संदर्भ में खंड विकास अधिकारी दिनेश सिंह से बात हुई तो उन्होंने कहा कि इस सामूहिक विवाह के कार्यक्रम में उनके द्वारा जिला पंचायत अध्यक्ष, स्थानीय विधायक और ब्लॉक प्रमुख सहित सभी गणमान्य अतिथियों को निमंत्रण भेजा गया था। जो आया उसका सम्मान किया गया, अब जो नहीं आया उसके बारे में वह कुछ नहीं कह सकते हैं। वहीं जब ब्लॉक प्रमुख महोदया के बारे में जानकारी लेने के लिए उनसे जुड़े लोगों के नंबर पर संपर्क करने की कोशिश की गयी तो संपर्क नहीं हो सका।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*