जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
मेज पर पैर रखकर आराम फरमाते हैं या मोबाइल देखते हैं मास्टर साहब, किसान इंटर कॉलेज की तस्वीर चर्चा में

कॉलेज में तैनात शिक्षकों द्वारा बच्चों को मनमाने ढंग से क्लॉस लिया जाता है। जब मन नहीं होता है तो वह मैदान में मेज पर पैर फैलाकर आराम करते देखे जा सकते हैं। मेज पर पैर फैला कर आराम करते शिक्षक की तस्वीर वायरल होने से कॉलेज के लोगों में खलबली है। 

 

किसान इंटर कॉलेज सैदूपुर का मामला

अनावश्यक दबाव बनाने के लिए किया गया वायरल

तस्वीर कॉलेज खत्म होने के बाद की

चंदौली जिले के चकिया तहसील इलाके के में प्रदेश की योगी सरकार परिषदीय विद्यालयों में गुणवत्तापरक शिक्षा प्रदान करने की कोशिश को शिक्षक पलीता लगाने की कोशिश में लगे रहते हैं। सरकार चाहती है कि परिषदीय विद्यालयों के बच्चे भी कान्वेंट स्कूलों की तर्ज पर अच्छी शिक्षा ग्रहण करें और आगे बढ़ें। इसके अलावा परिषदीय विद्यालयों में विभिन्न योजनाएं संचालित कर बच्चों को लाभ पहुंचाया जा रहा है। सीएम के निर्देश के बाद ही परिषदीय विद्यालय में पठन-पाठन की स्थिति सुधारने के लिए जिम्मेदार शिक्षक कॉलेज में जाकर पढ़ाने के बजाय आराम करने या मोबाइल पर लगे रहते हैं। कॉलेज में तैनात शिक्षकों की मनमानी से बच्चों का भविष्य संवरने के बजाय बर्बाद हो सकता है।

आपको बताते चलें कि चकिया क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले किसान इंटर कॉलेज, सैदूपुर में तैनात शिक्षकों की मनमानी चरम पर है। कॉलेज में तैनात शिक्षकों द्वारा बच्चों को मनमाने ढंग से क्लॉस लिया जाता है। जब मन नहीं होता है तो वह मैदान में मेज पर पैर फैलाकर आराम करते देखे जा सकते हैं। मेज पर पैर फैला कर आराम करते शिक्षक की तस्वीर वायरल होने से कॉलेज के लोगों में खलबली है। 

वहीं इसको लेकर क्षेत्रीय ग्रामीणों का कहना है कि योगी सरकार के निर्देश के बाद भी कॉलेज में तैनात शिक्षक मनमानी करते रहते हैं। समय से स्कूल नहीं पहुंचना और कक्षाओं में कम और बाहर के कामों दिलचस्पी लेना इनकी दिनचर्या में शामिल है। विद्यालय पहुंचने के बाद ही बच्चों की शिक्षा पर इनका ध्यान नहीं रहता है। अधिकांश शिक्षक विद्यालय में आकर भी आराम करते नजर आते हैं। या फिर कुर्सी पर बैठ कर मोबाइल चलाया करते हैं।  इस संबंध में ग्रामीणों ने उच्चाधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराते हुए ऐसे लापरवाह शिक्षकों पर कार्रवाई करने की मांग की है।

 सूत्रों से मिली जानकारी में मेज पर पैर फैलाए वायरल तस्वीर शिक्षक राम प्रकाश राय की कही जा रही है, जिसमें दूसरा शिक्षक मोबाइल पर कुछ देख रहा है। यह तस्वीर तीन-चार दिन पुरानी व कॉलेज का समय खत्म होने के बाद की कही जा रही है।  

इस संदर्भ में प्रधानाचार्य का कहना है कि कुछ लोगों के द्वारा कॉलेज में प्रवेश दिलाने के लिए अनावश्यक दबाव बनाने के लिए इस तरह का कार्य किया जा रहा है। वहीं कुछ लोग कॉलेज की छवि बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। जब कॉलेज का समय होता है तो अधिकांश शिक्षक अपनी अपनी कक्षाओं में होते हैं और अपना कार्य करते हैं। यह तस्वीर उनके संज्ञान में है और संबंधित लोगों को हिदायत भी दे दी है।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*