जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
एक और गांव को मिला न्याय आपके द्वार का लाभ, गोगहरा गांव में सुलझा 10 साल पुराना विवाद
विवाद में एक दूसरे के ऊपर तरह-तरह के आरोप लगाए गए थे। मामले में सुनवाई के बाद जिलाधिकारी ने मौके पर जाकर इस विवाद को सुलझाते हुए रास्ते को साफ कराने के लिए प्रक्रिया शुरू की।
 

रंग लायी प्रेम प्रकाश मीणा की पहल, 10 साल पुराने रास्ते के विवाद को किया हल, मौके पर चला बुलडोजर भी

 

चंदौली जिले की चकिया तहसील के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट व उप जिलाधिकारी प्रेम प्रकाश मीणा ने एक बार फिर मौके पर जाकर 10 साल से अधिक समय के लंबित विवाद को सुनते हुए दोनों पक्ष की रजामंदी से मामले को हल करा दिया तथा कब्जे को हटाते हुए रास्ते को चालू करवाया है। इस मौके पर जेसीबी लगाकर पूरा रास्ता भी साफ करा दिया है। इस मामले के हल होते ही न्याय आपके द्वार की मुहिम एकबार और खरी उतरती दिखायी दी।

PP Meena Nyay
उप जिलाधिकारी प्रेम प्रकाश मीणा विवाद को सुलझाते हुए

 बताया जा रहा है कि बबुरी थाना क्षेत्र के गोगहरा गांव में एक जमीन को लेकर पुराना विवाद चल रहा था, जिससे लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही थी। इस विवाद में एक दूसरे के ऊपर तरह-तरह के आरोप लगाए गए थे। मामले में सुनवाई के बाद उप जिलाधिकारी ने मौके पर जाकर इस विवाद को सुलझाते हुए रास्ते को साफ कराने के लिए प्रक्रिया शुरू की।

PP Meena Nyay
उप जिलाधिकारी प्रेम प्रकाश मीणा ग्रामीणों से बात करते हुए 

कहा जा रहा है कि गोगहरा गांव की आराजी संख्या   219, जिसका रकबा 111 हेक्टर है। जिसमे पूर्व में धारा 229 बी तहत रास्ता घोषित किया गया था। यहां पर लगभग 10 वर्ष से भोला यादव एवं परिवारगण द्वारा गांव का मुख्य मार्ग मड़ई, पेड़, बालू, गिट्टी इत्यादि रखकर पूरी तरह अवरुद्ध कर दिया गया था।

PP Meena Nyay
उप जिलाधिकारी प्रेम प्रकाश मीणा ने  मुख्य मार्ग को पूरी तरह खुलवाया

जब पूरे प्रकरण की जांच करते हुए सभी पक्षों को सुनवाई का पर्याप्त अवसर देते हुए CrPC (दंड प्रक्रिया संहिता) की धारा 133 के तहत आदेश पारित कर आज मौके पर कार्यवाही करते हुए गांव के मुख्य मार्ग को पूरी तरह खुलवाया गया एवं तत्काल निर्माण कार्य शुरू करवाया गया, ताकि सालों से बंद इस मुख्य मार्ग के बाधित हो जाने से जिन परिवारों को आने जाने में असुविधा हो रही थी उनको तत्काल इसका लाभ मिल सके। आज न्याय आपके द्वार की पहल से बरसों पुराना यह विवाद स्थायी रूप से समाप्त हो गया।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*