जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सीएम के विरोध में काली पट्टी बांधकर सपाइयों ने निकाला जुलूस, फूंक दिया मुख्यमंत्री का पुतला
 

चंदौली जिला के सैयदराजा में जहां एक तरफ मुख्यमंत्री का आगमन हो रहा था वही चकिया तहसील क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता लखीमपुर खीरी में किसानों के साथ हुई घटना को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के चंदौली आगमन के विरोध में प्रदर्शन कर पुतला दहन कर रहे थे।

आपको बता दें कि सैदूपुर कस्बा एवं बरहुआ में मुख्यमंत्री का पुतला निकालकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बांह पर काली पट्टी बांधकर हाथों में मुख्यमंत्री का पुतला लेकर मुख्यमंत्री एवं भाजपा विरोधी नारा लगाते हुए पूरे कस्बा एवं गांव का भ्रमण करने के बाद  उसरी मोड़ के तिराहे के पास तथा प्राथमिक विद्यालय के समीप पहुंचकर पुतला दहन किया।

CM Yogi Putla Burning

 इस दौरान हुई सभा को संबोधित करते हुए सपा नेता रामअधार जोसेफ ने कहा कि लखीमपुर खीरी में जिस तरह से किसानों के ऊपर बर्बरता पूर्वक हमला किया गया जिससे बेकसूर किसानों की मौत हुई। उसके बाद किसानों के दुख पर संवेदना व्यक्त करने उनके घर जा रहे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को रोककर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसान विरोधी होने का परिचय दिया है। जिससे उनका असली चेहरा बेनकाब हो गया है। 

CM Yogi Putla Burning

वहीं सपा व्यापार प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष अशोक कुमार गुप्त ने कहा कि केंद्र एवं प्रदेश की सरकार किसानों एवं व्यापारियों के खिलाफ दमनकारी नीति अपना रही है जिससे सपा कार्यकर्ता कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि किसान हो या व्यापारी भाजपा की सरकार में उनका चौतरफा शोषण हो रहा है। ऐसी सरकार को इस बार प्रदेश एवं देश की जनता उखाड़ फेंकने का काम करेगी।

 इस दौरान समाजवादी युवजन सभा के जिला उपाध्यक्ष मोहम्मद इलियास अहमद हवारी, मृत्युंजय पांडेय, लक्ष्मण वर्मा, केसरी नंदन, धर्मेंद्र यादव, आजाद अंसारी, प्रभु यादव, दिनेश, रमेश यादव सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद रहे।