जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
उदयीमान सूर्य को अर्ध्य देने के साथ डाला छठ का पर्व हुआ संपन्न

चंदौली जिले के चकिया तहसील क्षेत्र में लोक आस्था का महापर्व डाला छठ गुरुवार की सुबह उदयीमान सूर्य को अर्ध्य देने के साथ सकुशल संपन्न हो गया।

 

उदयीमान सूर्य को अर्ध्य

डाला छठ का पर्व हुआ संपन्न

चंदौली जिले के चकिया तहसील क्षेत्र में लोक आस्था का महापर्व डाला छठ गुरुवार की सुबह उदयीमान सूर्य को अर्ध्य देने के साथ सकुशल संपन्न हो गया।


बता दें कि कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को नहाए खाय के शुरू हुआ यह पर्व सप्तमी तिथि की प्रातः उगते हुए सूर्य को अर्ध्य देने के साथ संपन्न होता है। सूर्यदेव के उपासना का यह पर्व अत्यंत कठिन तप का पर्व है। जिसमें साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने के साथ ही 24 घंटे से अधिक समय तक निर्जला व्रत रखना पड़ता है। वहीं घंटों कमर भर पानी में खड़ा रहकर पहले दिन महिलाएं भगवान के भाष्कर के अस्त होने का इंतजार करती है इसी प्रकार दूसरे दिन भोर में से ही कमर भर पानी में खड़ा रह कर महिलाएं भगवान भाष्कर को अर्ध्य देने के लिए उनके उदय होने की प्रतीक्षा करती है।

Dala Chhath festival in chakiya


 गुरुवार की भोर में कुछ ऐसा ही आज व्रतियों ने चकिया मां काली जी पोखरा, सिकंदरपुर शिकारगंज, इलिया, शहाबगंज, बेन, तियरी, उसरी, सैदूपुर, खरौझा, बसाढ़ी आदि गांवों में भोर में से ही गांव के तालाब पोखर,तालाब, सरोवर में बनाए गए पूजा के घाट पर कमर भर पानी में खड़ा होकर भगवान भाष्कर के उदय होने की प्रतीक्षा कर रही थी। जैसे ही बादलों को चीरते हुए लालिमा लिए भगवान भास्कर का दर्शन मिला जगह-जगह पटाखा छूटने लगे और व्रती महिलाएं भगवान भास्कर को अर्ध्य दी, फिर परिवार के लोगों ने भी सूर्य देव को अर्ध्य दिया। इस दौरान छठ मैया के बज रहे तेज साउंड भरे गीत से पूरा इलाका गुलजार हो उठा। वहीं करनौल तथा सैदूपुर में भी कुछ महिलाएं छत के ऊपर सरोवर बनाकर पानी में खड़ा होकर भगवान भाष्कर को अर्ध देकर पूजन अर्चन की तथा परिवार की मंगल की कामना की।

Dala Chhath festival in chakiya


 इस दौरान चकिया मां काली मंदिर पोखरे पर युगांधर सेवा समिति तथा जय मां काली सेवा समिति के कार्यकर्ता व्रतियों को अर्ध्य के लिए दूध तथा फल का वितरित किये। वही इन समितियों की ओर से सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था किए गए थे ड्रोन कैमरा, गोताखोरों कि मदद के लिए नौका का पुख्ता इंतजाम के साथ भारी पुलिस फोर्स की व्यवस्था की गई थी, जिससे कुल मिलाकर यहां पर्व सकुशल संपन्न हो गया।

Dala Chhath festival in chakiya