जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
विश्व प्रकृति दिवस पर बोले परशुराम सिंह- वृक्ष के साथ वन्यजीवों से है प्रकृति का संतुलन
 

चंदौली जिला के शहाबगंज विकासखंड अंतर्गत कटवां माफी गांव निवासी वृक्ष बंधु डॉक्टर परशुराम सिंह ने कहा प्राकृतिक वातावरण को बनाए रखने के लिए जिस तरह से पेड़ पौधों को धरती पर बनाए रखना जरूरी है। उसी प्रकार वन्य जीवों का संरक्षण भी उतना ही महत्वपूर्ण है।

  यह बातें वृक्ष बंधु डा परशुराम सिंह विश्व प्रकृति दिवस एवं वन्य प्राणी सप्ताह के अंतर्गत कटवांमाफी गांव स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। उन्होंने कहा कि पेड़ पौधों का महत्व मनुष्य के जीवन से जुड़ा हुआ है । पेड़,पौधों एवं वनों से ही प्रकृति का संरक्षण होता है। प्राकृतिक वातावरण बनाए रखने के लिए मनुष्य को अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभानी होगी। और अपने अपने हाथों से एक-एक पौधरोपण कर उसे संरक्षित करने का काम करना होगा। 

उन्होंने कहा कि वन है तो वन्य जीव हैं वन्यजीवों का भी प्रकृति के संरक्षण में गहरा योगदान रहा है। इसलिए हम सभी का दायित्व बनता है कि और लगाकर उसे संरक्षित करें, और वन्यजीवों को बचाए रखने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं तभी मानव जीवन सुरक्षित रह सकेगा।