जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
स्कूल खुलते ही शिक्षकों ने बांहों पर काली पट्टी बांधकर शासन के निर्देश का किया विरोध
 


चंदौली जिले की चकिया तहसील क्षेत्र में कोरोना महामारी के चलते अप्रैल माह से बंद चल रहे 9वीं से इंटरमीडिएट तक के स्कूल सोमवार को खुलें। जहां शासन की गाइड लाइन के अनुसार दो शिफ्ट में सायं 4:30 बजे तक विद्यालय चलाए जाने का शिक्षकों ने विरोध किया।


 बता दें कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के आह्वान पर किसान इंटर कॉलेज सैदूपुर में शिक्षकों ने अपनी बांह पर काली पट्टी बांधकर शिक्षण कार्य करते हुए दो शिफ्ट में विद्यालय चलाए जाने का विरोध किया। कहा कि शासन द्वारा सुबह 8 से 12 तथा 12:30 बजे से 4:30 बजे तक ऑफलाइन पढ़ाई की यह स्वीकृति प्रदान की गई है वह पूरी तरह से अन्यायपूर्ण है। क्योंकि जो शिक्षक 9 व 10 वीं कक्षा में पढ़ाते हैं, वहीं शिक्षक 11 तथा 12वीं कक्षा में शिक्षण कार्य करते हैं। 

Teachers protested i

शिक्षकों ने कहा कि सुबह 8 बजे से विद्यालय चलाए जाने का मतलब शिक्षक और बच्चे सुबह 7 बजे घरों से निकलेंगे और सायं 4:30 बजे की पढ़ाई पूरी करने के बाद 6 बजे तक घर पहुंचेंगे। ऐसे में जहां छात्र छात्राओं को परेशानी उठानी पड़ेगी। वही शिक्षकों को पूरे दिन ड्यूटी देना पड़ेगा। शिक्षकों ने कहा कि सरकार जब तक पुराने समय सारणी के अनुसार सुबह 8 से 3 तक की ड्यूटी शिक्षण कार्य के लिए नहीं करती है तब तक शिक्षक अपनी बाहों में काली पट्टी बांधकर शिक्षण कार्य करने को विवश होंगे।

Teachers protested i


 इस दौरान इकाई के मंत्री राम प्रकाश राय, राम अवतार,गिरीश शर्मा, राजीव शुक्ला, प्रदीप कुमार, सुरेंद्र कुमार, शिवमंगल सिंह, रमेश कुमार, संजय सिंह चंदेल आदि शिक्षक मौजूद रहे।