जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सरकारी प्राइमरी स्कूल में जाकर जिलाधिकारी ने परखी शिक्षा और मिड डे मील की क्वालिटी

जिलाधिकारी संजीव सिंह ने प्राथमिक विद्यालय सदर का औचक निरीक्षण कर शिक्षकों की समय से उपस्थित एवं मिड-डे-मील की गुणवत्ता परखी।

 

कक्षा 3 से 5 तक के बच्चों से हिंदी- इंग्लिश की किताब पढ़वाया गया

विद्यालय के शौचालय के नियमित अच्छी तरह से साफ-सफाई के निर्देश दिए

जिलाधिकारी संजीव सिंह ने प्राथमिक विद्यालय सदर का औचक निरीक्षण कर शिक्षकों की समय से उपस्थित एवं मिड-डे-मील की गुणवत्ता परखी।

  DM Chandauli checking Primary School

इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा बच्चों से गुणा-भाग व जोड़ देकर सवाल हल करवाया गया साथ ही कक्षा 3 से 5 तक के बच्चों से हिंदी- इंग्लिश की किताब पढ़वाया गया। इसके अलावा बच्चों से पड़ोसी देशों के नाम, राष्ट्रीय पशु व पक्षी के नाम सहित सामान्य ज्ञान की जानकारी ली गई। जिलाधिकारी ने अध्यापकों से कक्षावार टाइम टेबल की जानकारी भी ली। 

  DM Chandauli checking Primary School
जिलाधिकारी ने प्रधानाध्यापक व सहायक अध्यापकों को निर्देशित करते हुए कहा कि जो बच्चे पढ़ने में कमजोर हैं उन पर विशेष ध्यान दिया जाए। हर बच्चों से ब्लैक बोर्ड पर जोड़, गिनती, पहाड़ा को हल कराया जाए। विद्यालय परिसर की साफ-सफाई संतोषजनक नहीं रहने पर गहरी नाराजगी जताते हुए सफाई व्यवस्था सुदृढ़ करने के निर्देश दिए। विद्यालय के शौचालय के नियमित अच्छी तरह से साफ-सफाई के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने अध्यापकों को निर्देशित करते हुए कहा कि भोजन से पहले व शौच करने के बाद साबुन से हाथ धोने की आदत बच्चों में अवश्य डालें जाय। आंगनबाड़ी के बच्चों की उपस्थिति कम रहने पर जिलाधिकारी ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को निर्देशित करते हुए कहा कि बच्चों के अभिभावको से मिलकर विद्यालय में भेजने के लिये अपील करें।

जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान प्रोजेक्टर मशीन निष्प्रयोज्य रखे जाने व उससे बच्चों में पठन-पाठन नही कराने पर सख्त हिदायत देते हुए प्रोजेक्टर का उपयोग करते हुए बच्चों के पठन-पाठन कराए जाने के निर्देश दिए।जिलाधिकारी ने कहा कि कमजोर बच्चों पर विशेष फोकस करते हुए पठन-पाठन सुनिश्चित किया जाए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा मिड डे मील में बने भोजन व भोजन की गुणवत्ता के बारे में जानकारी ली गई। रसोई कक्ष का निरीक्षण कर खाद्य सामग्री की गुणवत्ता देखी इसके साथ ही साफ-सफाई के साथ भोजन पकाने व बच्चों को खिलाये जाने के निर्देश रसोइयों को दिए। टूटे हुए फर्नीचर्स की मरम्मत करवाने के निर्देश प्रधानाध्यापक को दिए। जिलाधिकारी ने कम्पोजिट विद्यालय के जर्जर भवन का निरीक्षण कर प्रधानाध्यापक को ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया पूर्ण कराने हेतु निर्देशित किया।