जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
ग्राम पंचायतें खरीद सकेंगी पराली निस्तारण के लिए यंत्र, रबी गोष्ठी में डीएम साहब ने बताया तरीका
जिलाधिकारी ने दीप प्रज्वलित कर किया। जिलाधिकारी ने कृषि गोष्ठी के दौरान सम्बोधित करते हुए बताया कि रबी के सीजन में कम, लेकिन खरीफ के सीजन में धान की पराली निस्तारण के लिए पर्याप्त संसाधन न होने से किसान पराली को मजबूर होकर जलाता है।
 

पराली को नहीं जलाने का संकल्प दिला रहे हैं साहब, वातावरण को दूषित होने से बचाने की कर रहे अपील

चंदौली जिले के जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जनपद स्तरीय रबी उत्पादकता गोष्ठी का आयोजन कृषि विज्ञान केंद्र में किया गया। इसमें पराली जलाने पर पूर्णतः अंकुश लगाने व जनपद के कृषक को पराली जलाने से होने वाले नुकसान के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए जिलाधिकारी ने प्रचार वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। जिलाधिकारी ने तीन ट्रैक्टर सहित कृषि यंत्र का चयनित किसानों को प्रतीकात्मक चाबी सौंपी। 


इस कार्यक्रम की शुरुआत जिलाधिकारी ने दीप प्रज्वलित कर किया। जिलाधिकारी ने कृषि गोष्ठी के दौरान सम्बोधित करते हुए बताया कि रबी के सीजन में कम, लेकिन खरीफ के सीजन में धान की पराली निस्तारण के लिए पर्याप्त संसाधन न होने से किसान पराली को मजबूर होकर जलाता है। लेकिन अब इसके लिए प्रदेश सरकार के द्वारा किसान भाइयों के सुविधाओं को देखते हुए तमाम आधुनिक तकनीक वाली मल्चर सहित अन्य यंत्रों को किसानों को आसानी से उपलब्ध कराया जा रहा है। 

DM Chandauli in Rabi Gosthi

कहा कि किसान भाई पराली को क़त्तई न जलाएं उसका वेस्ट डी कंपोस्ट खाद तैयार करें। खेतों की उर्वरा शक्ति को बढ़ाएं। जैविक खेती का प्रयोग करें मिट्टी की जांच समय-समय पर अवश्य कराएं ताकि जो कमियां हो मिट्टी में उसे डाल कर खेत की उर्वरा शक्ति को मजबूत कर सके। पराली जलाने से प्रदूषण तो होता ही है खेत की उर्वरा शक्ति कम हो जाती है। कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा सेटेलाइट के माध्यम से पराली जलाने वाले किसको को चिन्हित करने का काम चलेगी। जिला प्रशासन किसान भाइयों के हर सहयोग के लिए साथ साथ खड़ा है पराली को जलाएं नहीं इस बार संकल्प लें। वातावरण को दूषित होने से भी बचाएंगे। 

जनपद में उर्वरक/खाद की पर्याप्त उपलब्धता है जितनी जरूरत हो सहकारी समिति से प्राप्त कर लें। इस बार जनपद में धान की फसल का पैदावार अच्छी है किसान भाई अपना धान क्रय केंद्र पर ही बेचे, बिचौलियों को कत्तई न दें। धान की बिक्री का पंजीकरण करा ले सत्यापन के उपरांत स्वयं बिक्री करें। धान गेहूं के अलावा मत्स्य व पशुपालन पर सरकार के द्वारा बैक में केसीसी ऋण दी जा रही है अधिक से अधिक लोग योजना का लाभ उठाएं यदि कहीं दिक्कत हो तो एलडीएम व कृषि विभाग के अधिकारी से संपर्क करें। 
      

DM Chandauli in Rabi Gosthi

 जिलाधिकारी ने कहा कृषकों की आर्थिक उन्नति एवं संपन्नता सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश व केंद्र सरकार दृढ़ संकल्पित है। जनपद में सिंचाई व्यवस्था सुदृढ़ बनी रहे इसके लिए पंप कैनालो की क्षमता वृद्धि बढ़ाई जा रही है। हेड से टेल तक नहरों की बेहतर मानक के अनुरूप सील्ड सफाई का भी कार्य अभियान चला कर किया जाएगा। गो-शाला में निराश्रित पशुओं के लिए ग्राम पंचायत में पड़े पैसे का पराली भी एकत्रित किया जाएगा। जैविक खेती से तैयार काला चावल जनपद की पहचान से चर्चित है इसे अच्छे दामों में मार्केट में विक्रय किया जाए ।इसके लिए डीलरों व दुकानदारों से संपर्क किया जा रहा है ताकि किसानों को अधिक से अधिक मूल्य प्राप्त होता रहे। जनपद में धान गेहूं के अलावा कुछ-कुछ जगहों पर प्याज की खेती किसानों के द्वारा बेहतर ढंग से किया जा रहा है। अच्छा मुनाफा वाला खेती है लोगों को इसे जानकारी लेकर खेती भी करें। 

DM Chandauli in Rabi Gosthi

जिलाधिकारी ने उप निदेशक कृषि को निर्देशित करते हुए कहा कि काला चावल सहित अन्य अधिक पैदावार वाली फसलों की जनपद में सक्सेस स्टोरी का वीडियो प्रगतिशील किसानों की बनाई जाए जिससे अन्य किसानों को प्रेरित किया जा सके। 
 

इस दौरान उप निदेशक कृषि, जिला विकास अधिकारी, सहित अन्य अधिकारीगण एवं किसान बंधु उपस्थित रहे।