जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
नवरात्रि के शुभ अवसर पर धानापुर की सुप्रसिद्ध रामलीला का हुआ शुभारंभ

चंदौली जिले में स्थानीय कलाकारों से सज्जित धानापुर की सुप्रसिद्ध रामलीला का शुभारंभ गुरुवार को शारदीय नवरात्र के प्रथम दिन के साथ प्रारम्भ कर दिया गया है । 

 
धानापुर की सुप्रसिद्ध रामलीला का हुआ शुभारंभ

चंदौली जिले में स्थानीय कलाकारों से सज्जित धानापुर की सुप्रसिद्ध रामलीला का शुभारंभ गुरुवार को शारदीय नवरात्र के प्रथम दिन के साथ प्रारम्भ कर दिया गया है । 


रामलीला मंचन के प्रथम दिन सदी की सबसे बड़ी महामारी में दिवंगत हुए समिति के पुरोधा, सक्रिय कार्यकर्ता  स्वर्गीय अमरदेव मिश्र के दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करने के लिए समिति के सभी  पदाधिकारियों ने दो मिनट का मौन और श्रद्धा सुमन अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी। 


इस दौरान श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए समिति के अध्यक्ष डॉक्टर अरविंद मिश्र ने कहा कि आपसी रंजिश से बन्द पड़े रामलीला मंचन के कार्यक्रम को अपनी सूझ बुझ और कड़ी मशक्कत के बदौलत 1996 में पुनः प्रारम्भ कराया। उनके द्वारा किए गए कृत्यों को भुलाया नहीं जा सकता। समिति के सभी पदाधिकारियों में आपसी सामंजस्य स्थापित करने में अहम भूमिका निभाते थे। रामलीला का मंचन किसी कलाकार के अनुपस्थिति में अवरुद्ध न हो उसके लिए वो स्वयं पात्र बन जाते थे । 


इस मौके पर समस्त रामलीला मंचन के संचालन का कार्य व्यास कृष्णानंद मिश्र ने किया। इस दौरान मुख्य रूप से रामलाल सेठ, सुरेंद्र सेठ, भैयालाल सोनी, सनत कुमार दुबे, छोटूराम,  प्रेम अकेला, वंशी दुबे, गौरी मौर्या, शिवकुमार दुबे, पाकी, वेद प्रकाश दूबे,  बिपिन रस्तोगी, लछमन मौर्या (फौजी) सहित तमाम लोग उपस्थित थे।