जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
जिले में भगोड़े व बाहर की दवा लिखने वाले डॉक्टरों की खैर नहीं, शुरू होगा चेकिंग अभियान
चंदौली जिले में मुख्य चिकित्साधिकारी ने मातहतों की नकेल कसने के लिए दिशा निर्देश जारी करते हुए कहा है कि अब अस्पतालों की चेकिंग की जाएगी और मौके पर गायब रहने वाले चिकित्सकों व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी
 

अब अस्पतालों की चेकिंग की जाएगी

मौके पर गायब रहने वाले चिकित्सकों व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी

चंदौली जिले में मुख्य चिकित्साधिकारी ने मातहतों की नकेल कसने के लिए दिशा निर्देश जारी करते हुए कहा है कि अब अस्पतालों की चेकिंग की जाएगी और मौके पर गायब रहने वाले चिकित्सकों व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस बीच प्रदेश के साथ साथ जिले में कोरोना के नए मरीज निकलने से अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने की दिशा में स्वास्थ्य विभाग ने प्रयास शुरू कर दिए हैं। 

सीएमओ डा. वाईके राय के निर्देश पर अब जिले के अस्पतालों के औचक निरीक्षण की योजना बनाई गई है। जिसमें वह खुद व सभी अपर व उप मुख्य चिकित्साधिकारियों को अस्पतालों की चेकिंग पर लगने के लिए कहा है। 

सीएमओ ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीमें अस्पतालों में औचक निरीक्षण पर निकलेंगी। इस दौरान दवाइयों की उपलब्धता व चिकित्सकों की उपस्थिति, सफाई व्यवस्था इत्यादि की जांच-पड़ताल की जाएगी। साथ ही विभागीय योजनाओं के प्रगति की भी हकीकत परखेगी। दरअसल, सरकारी अस्पतालों में तमाम तरह की दुर्व्यवस्थाएं रहती हैं। अधिकारियों के निरीक्षण के दौरान गंभीर कमियां सामने आती हैं। इसको लेकर सीएमओ ने हिदायत देते हुए सारी अव्यवस्थाओं को दूर करने का आदेश दे दिया है, ताकि निरीक्षण के दौरान कमियां न मिलें।

बाहर की दवा लिखने वालों को चेतावनी

अक्सर देखा जाता है कि शहर व गांवों के सरकारी अस्पतालों में आने वाले मरीजों को सरकारी अस्पतालों में मौजूद मुफ्त दवाएं देने का प्रविधान है, लेकिन कई चिकित्सकों इसके बाद भी अपनी सेटिंग के चक्कर में बाहर की दवाएं लिखा करते हैं। ऐसे में सभी को भी हिदायत दी गई है कि अस्पताल में उपलब्ध दवाइयां ही मरीजों को लिखें। अगर चेकिंग में इस तरह की शिकायत पायी गयी तो संबंधित पर कार्रवाई होगी।  

एलर्ट हो जाएं सभी चिकित्साधिकारी

सीएमओ ने प्राथमिक, सामुदायिक व अन्य केन्द्रों के सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों व चिकित्सकों को शासन की मंशा के अनुरूप काम करने का निर्देश देते हुए कहा है कि सरकार लोगों को बेहतर और मुफ्त चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने पर जोर दे रही है। ऐसे में अस्पताल आने वाले मरीजों के साथ अच्छा बर्ताव करते हुए उनका इलाज किया जाएगा। हर कोई अपनी जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन करे।