जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
कहीं बिजली के तार तो कहीं पराली से लग रही है धान के खेतों में आग

सोमवार को सैयदराजा थाना क्षेत्र के नौबतपुर इलाके में इस तरह की घटना देखने को मिली जानकारी दी गई खेत में धान की फसल जलकर राख हो गई थी। मंगलवार को चकिया तहसील के भैंसही गांव में भी इस तरह की घटना प्रकाश में आई थी जहां लगभग 6 बीघा धान की फसल जलकर बर्बाद हो गई थी। वहीं निदिलपुर गांव में ऐसी ही घटना देखने को मिली है।

 

लग रही है धान के खेतों में आग

किसानों की बढ़ रही है चिंता

चंदौली जिले में धान की फसल भी जलकर राख होने लगी है। आमतौर पर इस सीजन में आग आग की घटनाएं कम देखने को मिलती थी, लेकिन कहीं बिजली का तार टूटने तो कहीं पराली जलाने के कारण इस तरह की घटनाओं की चर्चा आम हो गई है। पिछले दो-तीन दिनों में चंदौली जिले में कई घटनाएं देखने को मिली हैं।


चंदौली जिले के नौबतपुर में सोमवार को बिजली का HT तार टूटने से 11 बीघा की धान जलकर राख हो गयी। वहीं पशुओं के लिए रखा गया पुवाल भी जल गया। इस नजारा देखकर आसपास कटाई कर रहे मजदूरों द्वारा भागकर किस तरह अपनी जान बचाई।

Fire in Paddy Dhan।।

बताते चलें कि चकिया तहसील के भैसहीं गांव में मंगलवार को एक किसान के खेत में अचानक आग लग गई, जिसके कारण से उसे खेत में खड़ी लगभग 6 बीघे धान की फसल जलकर राख हो गई। आग लगने की खबर पर काफी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

 स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के अनुसार भैसहीं गांव के रहने वाले शिवम तिवारी के खेत में दोपहर 12 बजे के आसपास अचानक किसी कारण से आग लग गई। आग लगने की वजह से धान की फसल पूरी तरह से जलकर राख हो गई है।

धानापुर क्षेत्र के निदिलपुर गांव में मंगलवार की शाम पराली जलाने के दौरान निकली चिंगारी से धान की खड़ी फसल जल गई। किसानों ने झाड़ियों से पीट कर किसी तरह आग बुझाई। इससे बड़ा नुकसान नहीं हुआ। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल की और पीड़ित के तहरीर पर आगे की कार्रवाई शुरू की।

Fire in Paddy Dhan

 निदिलपुर गांव निवासी श्रीकांत सिंह अपने डेढ़ बीघा खेत में धान की कटाई के शाम तीन बजे पराली में आग लगा दी। हवा के कारण आग से निकाली चिंगारी समीप ही गांव निवासी संतोष सिंह के खेत में पहुंच गई और धान की फसल में आग लग गई। धान की खड़ी फसल धू-धू कर जल उठी। यह देख आस पास क लोगों ने शोर मचाया। संतोष सिंह भी शोर मचाते हुए आग बुझाने में जुटे। आस पास के लोगों ने प्रयास कर झाड़ियों से पीट कर आग बुझाई। 

संतोष ने इस संबंध में थाने में तहरीर दी है। इस संबंध मे थाना प्रभारी सतेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि प्रथम दृष्टया पराली जलाना कानूनन अपराध है। यदि वक्त पर लोग नही पहुंचते तो एक गलती से पडोसी किसान की लाखों की जीविका बर्बाद हो गई होती। इस मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है।