जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
UP टीम में सेलेक्ट होकर संतोष ट्रॉफी नेशनल फुटबाल चैंपियनशिप में खेलने जा रहा है धानापुर का इमरान खान
धानापुर इलाके का एक फुटबॉल खिलाड़ी गांव में भले ही अपने फुटबॉल की शुरुआत की, लेकिन अब वह राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने के लिए लखनऊ से सेलेक्ट होकर चंडीगढ़ के लिए जा रहा है।
 

संतोष ट्रॉफी नेशनल फुटबाल चैंपियनशिप

खेलने जा रहा है धानापुर का इमरान खान

चंदौली जिले के धानापुर इलाके का एक फुटबॉल खिलाड़ी गांव में भले ही अपने फुटबॉल की शुरुआत की, लेकिन अब वह राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने के लिए लखनऊ से सेलेक्ट होकर चंडीगढ़ के लिए जा रहा है। धानापुर का यह लाल चंडीगढ़ में आयोजित फुटबाल प्रतियोगिता में अपने हुनर का जलवा दिखाएगा।

 धानापुर कस्बे का इमरान खान अब संतोष ट्रॉफी नेशनल फुटबाल चैंपियनशिप के नार्थ क्वालीफाइंग राउंड में खेलने के लिए यूपी टीम के साथ चंडीगढ़ रवाना हो चुका है। इमरान खान मिडफील्डर है और मिडफील्ड में उसे खेलने की जिम्मेदारी दी गई है। इमरान के उत्तर प्रदेश टीम में चयनित होने पर फुटबॉल प्रेमियों के साथ-साथ घर परिवार के लोग काफी घर गौरवान्वित हैं।

 आपको बता दें कि धानापुर कस्बे के रहने वाले शमीम खान के चार बेटों और दो बेटियों में से इमरान खान अपने परिवार का नाम रोशन करने वाला निकला। कम संसाधन और गांव की गलियों में भी वह अपने खेल के प्रति लगाव को कम नहीं होने दिया। आज वह उत्तर प्रदेश की टीम में अपना स्थान बना लिया है।

Imaran Khan Selected

 बताया जा रहा है कि शुक्रवार को उत्तर प्रदेश ओलंपिक एसोसिएशन के नेतृत्व में ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन के लखनऊ चौक स्टेडियम में हुए प्रशिक्षण शिविर के बाद उसका सेलेक्शन किया गया है और इमरान को यूपी फुटबॉल टीम में जगह मिली है। 

धानापुर कस्बे के निवासी बताते हैं कि इमरान खान को शुरू से ही फुटबॉल खेलने का जुनून था और इसी जुनून के जरिए उसने अपना सपना पूरा किया है और उत्तर प्रदेश की टीम में आज खेलने के लिए जा रहा है।

स्कॉरशिप पाने के लिए यहां करिए आवेदन...

 पड़ोसी और स्थानीय लोग बताते हैं कि अक्सर उसे अमर वीर इंटर कॉलेज के मैदान में उसे रबर की गेंद से खेलते हुए देखा जाता था। फिलहाल इमरान खान हेमंत जोशी की कोचिंग में फुटबॉल की बारीकियों को सीख कर आगे बढ़ रहा है और आज मिडफील्डर के रूप में अपना जलवा दिखाने के लिए बेताब है।

https://scholarships.gov.in/fresh/loginPage

 इमरान के पिता शमीम उसकी उपलब्धि पर गौरवान्वित होते हैं और कहते हैं कि उसने जो कुछ भी हासिल किया है, वह अपनी लगन और मेहनत से हासिल किया है। इमरान सुबह उठकर अक्सर अभ्यास के लिए चुपचाप चला जाता था और फील्ड पर काफी मेहनत करता था। आज उत्तर प्रदेश की टीम में उसके सेलेक्शन से वह काफी खुश हैं और उम्मीद करते हैं कि एक न एक दिन वह भारतीय टीम में भी सेलेक्ट होकर देश के लिए खेलेगा।