जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
योगी के मंत्री अनिल राजभर के घर पास भी मानक से नहीं होता काम, कैसे लगेगी भ्रष्टाचार पर लगाम
 

चन्दौली जनपद के सकलडीहा कस्बा में कई वर्षों से खराब सड़कों को लेकर कई बार स्थानीय लोगों से लेकर जनप्रतिनिधियों ने विरोध प्रदर्शन किया है। विरोध प्रदर्शन के बाद पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा जल निकासी के लिए सकलडीहा में सड़क के दोनों किनारों के लिए तीन करोड़ 78 लाख रुपए की लागत से नाला निर्माण कार्य कराए जाना प्रस्तावित हुआ, लेकिन कई साल बीत जाने के बाद भी ठेकेदार की लापरवाही एवं मनमानेपन के कारण नाला का कार्य अभी भी अधूरा पड़ा हुआ है। जिसको लेकर कस्बावासियों में आक्रोश है। 

साथ ही कस्बावासियों ने ठेकेदार के ऊपर पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा तय मानक 40 फुट नापी के उपरांत सड़क एवं नाला निर्माण की समय सीमा तय होने के बावजूद कुछ लोगों के सह एवं कुछ व्यवसायियों से मिलीभगत कर मानकों की अनदेखी कर नाला एवं सड़क निर्माण का कार्य कराया जा रहा है। इसको लेकर कस्बा के लोगों ने आपत्ति जताते हुए विरोध प्रदर्शन किया। 

वहीं कस्बावासी सीरी राय ने ठेकेदार के ऊपर आरोप लगाया कि सड़क के दोनों किनारों से 40 फीट पर नाला निर्माण व इंटरलॉकिंग किया जाना है। यह काम पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा प्रस्तावित है, लेकिन ठेकेदार कुछ व्यवसायियों से मिलीभगत कर सड़क के पश्चिमी छोर में 40 फुट के बावजूद भी सड़क निर्माण कार्य मानक के विपरोत कराया जा रहा है।

Corruption in Sewer line 

मामले पर कस्बावासी रामदेई राजभर, संतोष राजभर, विनोद राजभर संदीप जयसवाल, उमा राजभर एवं टुनटुन राजभर ने जिलाधिकारी से ठेकेदार के खिलाफ जांच कराते हुए कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

आपको बता दें कि इसी सकलडीहा में सरकार के मंत्री अनिल राजर का घर है और वह भी विभागीय अफसरों की इसके लिए नकेल कस चुके हैं, लेकिन मनमाने अफसर व ठेकेदार किसी की नहीं सुन रहे हैं।

इस बाबत पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिशासी अभियंता डीपी सिंह ने कहा कि संबंधित मामले में जांच करा कर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।