Movie prime
ज्वाइंट मजिस्ट्रेट की मेहनत रंग लायी, गेट बनने से नवोदय को होगा फायदा
tds_top_like_showtds_top_like_showtds_top_like_showtds_top_like_showtds_top_like_show चंदौली जिले के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट की मेहनत रंग ला दिया, जिससे 13 साल से भयग्रस्त जवाहर नवोदय विद्यालय के छात्र छात्राओं की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता हो गई। विद्यालय बनने के बाद ग्रामीणों के विरोध पर विद्यालय की चाहरदीवारी पीछे खुली रह गई थी। जिससे आवागमन हो रहा था। सैकड़ो की संख्या में पढ़ने वाले छात्र
 
ज्वाइंट मजिस्ट्रेट की मेहनत रंग लायी, गेट बनने से नवोदय को होगा फायदा

tds_top_like_showtds_top_like_showtds_top_like_showtds_top_like_showtds_top_like_show

चंदौली जिले के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट की मेहनत रंग ला दिया, जिससे 13 साल से भयग्रस्त जवाहर नवोदय विद्यालय के छात्र छात्राओं की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता हो गई। विद्यालय बनने के बाद ग्रामीणों के विरोध पर विद्यालय की चाहरदीवारी पीछे खुली रह गई थी। जिससे आवागमन हो रहा था। सैकड़ो की संख्या में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं की सुरक्षा को लेकर विद्यालय प्रशासन लगातार भयग्रस्त रहा है। इस समस्या के निस्तारण के लिए इसके पूर्व भी जिला अधिकारी सहित अन्य कई अधिकारियों ने निस्तारण का प्रयास किया था, लेकिन समस्या जस की तस बनी रही।

आप को बता दें कि सकलडीहा के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक करते हुए समस्या का समाधान निकाल लिया और शनिवार को खुली बाउंड्री को बंद करते हुए वहां लोहे का राउंड का गेट लगवा दिया। बाकी लोगों के आवागमन के लिए कैंपस के बाहर से सड़क का निर्माण कर मंदिर जाने के लिए व्यवस्था की जा रही है।

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट की मेहनत रंग लायी, गेट बनने से नवोदय को होगा फायदा

इस समस्या के निस्तारण के लिए शनिवार को सुबह 7 बजे ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रमिया एस, तहसीलदार सकलडीहा वंदना शर्मा, नायब तहसीलदार सकलडीहा प्रवीण कुमार, थानाध्यक्ष बलुआ उदय प्रताप सिंह मौके पर पहुंचकर विद्यालय प्रशासन के साथ एवं ग्रामवासियों की सहमति और सहयोग से बाउंड्री वाल एवं गेट की स्थापना सुनिश्चित की गई।

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट की मेहनत रंग लायी, गेट बनने से नवोदय को होगा फायदा

बाउंड्री वॉल एवं गेट के लग जाने से अब विद्यालय परिसर पूरी तरह सुरक्षित है एवं विद्यालय के बीच के आवागमन को अब सुचारु रुप से संचालित किया जा सकेगा। साथ ही साथ स्कूल परिसर के बाहर स्थित प्राचीन शिव मंदिर परिसर का सौंदर्यकरण, पानी, बिजली की व्यवस्था एवं वैकल्पिक मार्गों के सुदृढ़ीकरण में तत्काल तेजी लाई जाएगी, ताकि श्रद्धालुओं को किसी तरह की असुविधा का सामना ना करना पड़े।