जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
..तो इस बात के लिए छिड़ी है ग्राम प्रधान व चौकी इंचार्ज में देख लेने की जंग
 


चंदौली जनपद के चहनिया ब्लॉक परिसर में ग्राम प्रधानों द्वारा प्रदर्शन कर कैलावर चौकी इंचार्ज को हटाने की मांग की जा रही है। अगर इसके पीछे की कहानी देखी जाय तो कुछ अलग ही बतायी जा रही है। अब गांव के लोग ग्राम प्रधान की मनमानी की बात कह रहे हैं और जमीन के मामले में जबरन मुद्दा बनाकर लोगों को परेशान करने की कोशिश कर रहे हैं।

मामले में इटावा गांव के प्रतिवादी शैलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि ग्राम प्रधान द्वारा मनमानी किए जाने व पक्षपात किए जाने तथा अपने पद का दुरुपयोग करते हुए चौकी इंचार्ज को हटाकर प्रशासन पर दबाव बनाना चाहता है। 


इस मामले में पीड़ित शैलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि हमारे भाई ने सामुदायिक शौचालय के लिए आबादी की पैतृक जमीन एसडीएम साहब को कुछ शर्तों के साथ सुपुर्द किया था। लेकिन उस जमीन के बहाने वहां मौजूद सभी जमीन को ग्राम प्रधान सिद्धार्थ मौर्या द्वारा कब्जा कर करने का कुचक्र रचा जा रहा है। गांव के दलितों को प्रेरित कर एसटीएससी का मुकदमा करवाने की धमकी देकर जबरिया जमीन कब्जा किया जा रहा है। जिसको रोकने के लिए थाने पर तहरीर दी गई और चौकी इंचार्ज द्वारा दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर एसडीएम साहब के निर्देशानुसार कार्य करने की बात कही गई, तो ग्राम प्रधान सिद्धार्थ मौर्या द्वारा चौकी इंचार्ज को हटवाने व देख लेने की धमकी देकर जबरन भौकाल टाइट कर रहे हैं। 

उनका कहना है कि वह अपने जनप्रतिनिधि होने का गलत फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं। मामले में ग्राम प्रधानों को एकजुट कर चौकी इंचार्ज के खिलाफ कार्यवाही के लिए कुचक्र रचा जा रहा है। पीड़ित ने इस मामले में निष्पक्ष जांच कर जनप्रतिनिधि होने का दुरुपयोग पर रोक लगाने की मांग की है।