जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अमृत लाल चौरसिया की पहल से पिता को मिली भटकी अबोध बिटिया

समाज सेवा की असली पहचान समाज में निरंतर सक्रिय रहने से ही होती है, जिससे समाज का फायदा हो सके। इसी तरह की मिसाल चंदौली जिले के चहनियां ब्लॉक के बलुआ निवासी भाजपा के युवा नेता अमृत लाल चौरसिया ने पेश की है। 

 

अमृत लाल चौरसिया की पहल 
पिता को मिली भटकी अबोध बिटिया

समाज सेवा की असली पहचान समाज में निरंतर सक्रिय रहने से ही होती है, जिससे समाज का फायदा हो सके। इसी तरह की मिसाल चंदौली जिले के चहनियां ब्लॉक के बलुआ निवासी भाजपा के युवा नेता अमृत लाल चौरसिया ने पेश की है। 

स्थानीय क्षेत्र के महुआरी गांव के शुभम यादव की अबोध पुत्री स्वाति यादव स्कूल से भटकते हुए बाजार से रोती हुई जा रही थी कि उसे अमृत लाल चौरसिया ने देख लिया और तत्काल उसे रोक कर उसके रोने का कारण पूछने लगे। अबोध बच्ची कुछ नहीं बता पाई तो, तत्काल समाजसेवी अमृतलाल ने उसे खिलाते पिलाते हुए उसे अपनी दुकान पर बैठा कर, सोशल मीडिया का सहारा लिया। 

वाट्सप, फेसबुक के माध्यम से फोटो डालकर उस बच्ची के मिलने की सूचना दिया। सोशल मीडिया की खबर आग की तरह फैल गई। तत्काल इसकी सूचना महुआरी गांव से सीआरपीएफ के सैनिक पिता शुभम यादव को लगी तो उन्होंने अमृत लाल चौरसिया से दिए गए नम्बर पर संपर्क किया और दुकान पर पहुँचकर बच्ची को पाकर समाजसेवी युवा नेता को धन्यवाद दिया।


 बच्ची के पिता ने उनके कार्यों की सराहना करते हुए बताया कि काश अगर यह बच्ची को नहीं रोके होते और सूचना सोशल मीडिया के माध्यम से नहीं दिए होते तो आगे कुछ और घटना घट सकती थी। इसके लिए उनको दिल से आभार व्यक्त कर रहे हैं। उनके इस कार्य से इतनी खुशी है, जिसे बयां नहीं किया जा सकता।