जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
380 मुगलसराय विधानसभा सपा से वफादारी का इनाम चाहते हैं पूर्व चेयरमैन राजकुमार जायसवाल
चंदौली जिले की मुगलसराय विधानसभा सीट के दावेदारों में कुछ दावेदार ऐसे भी हैं जो पिछले कई सालों से पार्टी में खामोशी के साथ अपनी सेवा कर रहे हैं और पार्टी के हर निर्देश को मानते रहते हैं
 

380 मुगलसराय विधानसभा

सपा से वफादारी का इनाम चाहते हैं राजकुमार जायसवाल

व्यापारियों की संख्या व दमखम

 मुगलसराय से चुनाव लड़ना चाहते हैं राजकुमार

यह है योजना व दावा

चंदौली जिले की मुगलसराय विधानसभा सीट के दावेदारों में कुछ दावेदार ऐसे भी हैं जो पिछले कई सालों से पार्टी में खामोशी के साथ अपनी सेवा कर रहे हैं और पार्टी के हर निर्देश को मानते रहते हैं, लेकिन अपनी राजनीतिक ख्वाहिश और महत्वाकांक्षा को पूरा करने के लिए वह एक बार अपने इलाके का प्रतिनिधित्व भी करना चाहते हैं, ताकि वह प्रदेश के सर्वोच्च सदन में बैठकर अपने इलाके का बेहतर तरीके से विकास कर सकें। साथ ही अपने समाज के हितों की रक्षा के लिए संघर्ष कर सकें।

 इन्हीं में से एक नाम समाजवादी पार्टी के नेता और मुगलसराय नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन राजकुमार जायसवाल का है। समाजवादी पार्टी के नेता राजकुमार जायसवाल का परिवार राजनीतिक परिवार रहा है। इनके पिता किशुन प्रसाद जायसवाल ने अपनी राजनीतिक पारी कांग्रेसी नेता के रूप में शुरू की थी, लेकिन 1993 में वह कांग्रेस पार्टी छोड़कर समाजवादी पार्टी में आ गए। तब से उनका पूरा परिवार समाजवादी पार्टी के साथ है और राजकुमार जायसवाल समाजवादी पार्टी के टिकट पर मुगलसराय विधानसभा से चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं।

 इन्होंने चंदौली समाचार से अपनी दावेदारी और जीत की संभावनाओं पर चर्चा की...

Raj Kumar Jaiswal Ex Nagar Palika Chairman

सपा से दो पीढियों का रिश्ता

 राजकुमार जायसवाल समाजवादी पार्टी के टिकट पर नगर पालिका मुगलसराय के चेयरमैन रह चुके हैं। वह पिछले दो पीढ़ियों से समाजवादी पार्टी की सेवा कर रहे हैं। उनके पिताजी ने सन 1993 में कांग्रेसी छोड़कर सपा की सदस्यता हासिल की थी, तब से लेकर आज तक उनका परिवार समाजवादी पार्टी का हिस्सा है। समाजवादी पार्टी के साथ राजनीति करते हुए उनके पिता जी नगरपालिका परिषद के विभिन्न पदों पर रहते हुए इलाके के विकास के लिए काम किया। उनके पिताजी चेयरमैन बनकर मुगलसराय नगर पालिका की सेवा करना चाहते थे, लेकिन 10 मार्च 1999 को उनका निधन हो गया और उनकी यह ख्वाहिश पूरी नहीं हो पाई। उनकी ख्वाहिश पूरी करने के लिए उनके बेटे राजकुमार जायसवाल ने अपने व्यवसाय के साथ-साथ राजनीति करने का फैसला किया और उसी का नतीजा रहा कि वह 2006 में समाजवादी पार्टी के टिकट पर मुगलसराय नगर पालिका के चेयरमैन बने और मुगलसराय में ऐतिहासिक काम करते हुए अपने परिवार की प्रतिष्ठा को कायम रखा है।

व्यापारी दिखा चुके हैं अपना जोर

 राजकुमार जायसवाल का मानना है कि जिस तरह से व्यापारी वर्ग के लोगों ने समाजवादी पार्टी के सांसद के रूप में व्यापारी नेता जवाहरलाल जायसवाल को समर्थन करते हुए भारी जीत दिलाई थी। उसी तरह से अगर समाजवादी पार्टी किसी व्यापारी नेता को विधानसभा का टिकट देती है तो वह भी भारी बहुमत से जीतकर विधानसभा में पहुंचेगा। मुगलसराय विधानसभा के सारे व्यापारी अपने समाज के प्रति एकजुट है और अपना नुमाइंदा चुनकर विधानसभा में भेजना चाहते हैं।

 पार्टी और संगठन के दम पर चुनाव लड़ने का दावा करने वाले राजकुमार जायसवाल का कहना है कि वह अपने पिता के पुराने काम के साथ-साथ अपने चेयरमैन के काम के बल पर वह विधानसभा का चुनाव लड़ना चाहते हैं। मुगलसराय की जनता जानती है कि उन्होंने नगरपालिका का चेयरमैन रहते हुए किस तरह से विकास के कार्य किए हैं। अगर समाजवादी पार्टी टिकट देती है तो व्यापारियों के संगठन के साथ मिलकर समाजवादी पार्टी को भारी बहुमत से जीत दिलाएंगे।

Raj Kumar Jaiswal Ex Nagar Palika Chairman

साधना सिंह ने दिया है धोखा

 राजकुमार जायसवाल ने कहा कि मौजूदा विधायक साधना से भी अपने आपको व्यापारी नेता कहती हैं और उनकी जीत में व्यापारियों का बहुत बड़ा रोल है, लेकिन उन्होंने विधायक बनने के बाद मुगलसराय के व्यापारियों के साथ-साथ अन्य बाजारों के भी व्यापारियों के लिए कोई बड़ा काम नहीं किया। राजकुमार जायसवाल ने याद दिलाया कि सब्जी मंडी की बात कहकर पिछला विधानसभा चुनाव साधना सिंह ने जीता था, लेकिन 5 साल में उन्होंने सब्जी मंडी के लिए कुछ भी नहीं किया। अब वह दोबारा चुनाव जीतने पर मंडी की समस्या हल करने का आश्वासन दे रही हैं।

सपा के गिनाने लगे काम

 राजकुमार जायसवाल ने याद दिलाया कि समाजवादी पार्टी के कार्यकाल में मुगलसराय इलाके का खूब विकास हुआ था। मुगलसराय में महिला अस्पताल हो या भोगवारे में बना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र,  मुगलसराय नगर पालिका में पानी की टंकियां हो या अन्य जगहों पर बनी हुई सड़क.. यह सब कुछ समाजवादी पार्टी की सरकार के द्वारा किया गया है। इसमें तत्कालीन विधायक और सांसद रामकिशुन यादव का बड़ा हाथ है। उन्होंने मुगलसराय के विकास के लिए बखूबी काम किए हैं। 

Raj Kumar Jaiswal Ex Nagar Palika Chairman

यह है फ्यूचर का प्लान व सपना

राजकुमार जायसवाल ने कहा कि अगर उन्हें समाजवादी पार्टी का टिकट मिलता है और वह विधायक चुनकर जाते हैं तो उनकी पहली प्राथमिकता होगी कि मुगलसराय की सबसे बड़ी समस्या को दूर किया जाए। इलाके में हर दिन लगने वाले जाम से जनता को मुक्ति दिलाई जाए। इसके लिए चंधासी कोयला मंडी से लेकर चकिया तिराहे तक फ्लाई ओवरब्रिज को बनाने की बात की जाएगी। इसके अलावा चंधासी कोयला मंडी की गंदगी और धूल को भी दूर करने के लिए एक बड़ी कार्ययोजना पर काम किया जाएगा। साथ ही मुगलसराय इलाके में शिक्षा और स्वास्थ्य पर विशेष रूप से काम किया जाएगा। 

राजकुमार जायसवाल ने कहा कि अगर भोगवारे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को ध्यान देकर ठीक कराया जाय तो इसे बेहतर ट्रामा सेंटर के रूप में विकसित किया जा सकता था। लेकिन भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया। अगर समाजवादी पार्टी की सरकार बनती है और मुगलसराय से समाजवादी पार्टी का विधायक जीतकर सदन में जाता है, तो मुगलसराय इलाके में उच्च शिक्षा, स्वास्थ्य तथा रोजी रोजगार के लिए बड़े काम होंगे। इतना ही नहीं विधायक के रुप में किसानों की समस्या दो दूर करने के साथ-साथ सिंचाई व्यवस्था को मजबूत करने पर काम किया जाएगा।