जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
एक और मामले को सलटाने की शेषधर पांडेय को मिली जिम्मेदारी, बने सैयदराजा के नए प्रभारी
लॉकरकांड के बाद मनराजपुर कांड को हैंडल करने का जिम्मा, रिश्तेदारी के आरोप पर हटाए गए संतोष सिंह, दलील व इंकार का नहीं पड़ा फर्क 
 

चंदौली जिले के मनराजपुर घटनाक्रम में एक और नया मोड़ आया है और अब नव नियुक्त थाना प्रभारी को हटाते हुए सैयदराजा थाना प्रभारी के रूप में चंदौली कोतवाल शेषधर पांडेय देर रात तैनात कर दिया गया है। कहा जा रहा है कि चंदौली में इंडियन बैंक लॉकरकांड मामले में धरना प्रदर्शन को हैंडल करने का उनको इनाम मिला है। माना जा रहा है कि वह मामले को गंभीरतापूर्वक देखते हुए सुलझाने की कोशिश करेंगे। 

चंदौली जिले के सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर  घटना में आरोपी इंस्पेक्टर की जगह संतोष सिंह की तैनाती को गलत ठहराते हुए सपा विधायक प्रभुनारायण सिंह ने कहा था कि साले को बचाने के लिए जीजा को तैनात किया गया है। यह कार्य आरोपी इंस्पेक्टर को बचाने के लिए किया गया है। साले को बचाने के लिए जीजा की तैनात का आरोप लगते ही पुलिस प्रशासन ने एक और फेरबदल कर दिया। रात में ही संतोष कुमार सिंह को हटाकर शेषधर पांडेय को तैनाती दे दी गयी है। 

हालांकि इस मामले में निरीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया था कि कहीं दूर तक नहीं है उदय प्रताप सिंह से उनका कोई रिश्ता नहीं है। यह केवल अफवाह फैलायी जा रही है। संतोष कुमार सिंह की दलील व खंडन का भी उनके विभाग के आला अफसरों पर कोई फर्क नहीं पड़ा और वह देर रात सैयदराजा से चंदौली भेज दिए गए। 

 विपक्षियों के दबाव के कारण पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल द्वारा रात्रि में चंदौली कोतवाल शेषधर पांडेय को सैयदराजा का ताकि विपक्षियों के आरोप पर लगाम लगाया जा सके।

 सैयदराजा में तैनात किए गए चंदौली कोतवाल शेषधर पांडेय को अब विपक्षियों को बैकफुट पर डालने के लिए तैनात किया गया है। आपको बता दें कि यह शेषधर पांडेय वही थाना प्रभारी हैं जो लॉकर चोरी के मामले में हुए बवाल को शांत करने के लिए चंदौली कोतवाली तैनात किए गए थे और बवाल के बाद अब सैयदराजा इलाके के बवाल को निपटाने के लिए सैयदराजा का प्रभार सौंपा गया है। अब देखना है कि वह इस मामले को किस प्रकार हैंडल करते हैं और कितना सफल हो पाते हैं।