जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime

चकिया के पते पर नौगढ़ में अल्ट्रासाउंड सेंटर, छापामार कर किया गया सील

नौगढ़ में आए जिलाधिकारी निखिल टीकाराम फुंडे के निर्देश पर कस्बा नौगढ़ में संचालित आरव अल्ट्रासाउंड सेंटर को सील करने का निर्देश दिया गया था, क्योंकि उसे बगैर पंजीकरण कराए अवैध तरीके से संचालित किया जा रहा था।
 

नौगढ़ कस्बे में अवैध अल्ट्रासाउंड सेंटर

ACMO डॉ संजय सिंह के नेतृत्व में टीम ने छापेमारी

आसपास के पैथोलॉजी सेंटर और क्लीनिक संचालक फरार

चंदौली जिले से नौगढ़ कस्बे में अवैध ढंग से संचालित एक अल्ट्रासाउंड सेंटर पर सोमवार को एसीएमओ डॉ संजय सिंह के नेतृत्व में टीम ने छापेमारी करके सील कर दिया गया। पंजीकरण न होने के कारण अधिकारियों ने केंद्र पर ताला लगाकर सील करने की पहल की गयी। इस कार्रवाई शुरू होते ही आसपास के पैथोलॉजी सेंटर और क्लीनिक संचालक भी अपने-अपने सेंटर बंद कर फरार हो गए। इस सेंटर पर कार्रवाई के दौरान दो महिलाएं अल्ट्रासाउंड के लिए मिलीं, जिसमें से एक आशा बहू के साथ आयी हुई थी।

illegal ultrasound center
नौगढ़ में आए जिलाधिकारी निखिल टीकाराम फुंडे के निर्देश पर कस्बा नौगढ़ में संचालित आरव अल्ट्रासाउंड सेंटर को सील करने का निर्देश दिया गया था, क्योंकि उसे बगैर पंजीकरण कराए अवैध तरीके से संचालित किया जा रहा था।  सोमवार को सायं काल स्वास्थ्य विभाग की टीम नोडल आंफिसर डॉ संजय कुमार सिंह की अगुवाई में यूनियन बैंक नौगढ़ के पास आरव अल्ट्रासाउंड सेंटर पर छापा मारा गया। पंजीकरण न होने के कारण अधिकारियों ने उन्हें सील कर दिया। जांच करने आये अधिकारियों में जिला समन्वयक पीसीपीएनडीटी अमित कुमार पांडे व अन्य स्वास्थ कर्मी मौजूद रहे। ‌


शनिवार को संपूर्ण समाधान दिवस पर नौगढ़ आए जिलाधिकारी को बताया गया था कि कस्बा नौगढ़ में यूनियन बैंक नौगढ़ के पास एक घर में अवैध रूप से अल्ट्रासाउंड सेंटर का संचालन धड़ल्ले से किया जा रहा है। जहां चिकित्सकों के कमीशन के चक्कर में गरीब मरीजों का आर्थिक शोषण किया जा रहा है। जांच पड़ताल में आरव अल्ट्रासाउंड सेंटर के नाम से संचालित इस सेंटर को लाइसेंस नहीं प्राप्त था।

illegal ultrasound center

इस पर सीएमओ युगल किशोर राय ने मामले की जांच अपर सीएमओ डॉ. संजय सिंह को सौंपी। सोमवार को अपर सीएमओ मातहत कर्मचारियों के साथ संबंधित सेंटर पर पहुंच गए। संचालक से पंजीकरण संबंधित कागजात मांगे। संचालक ने पंजीकरण का प्रमाण पत्र दिया तो उसके संचालन का पता आदित्य नारायण इंटर कॉलेज चकिया के पास का था, जिसकी वैधता भी समाप्त हो चुकी थी। इसके बाद इसको सील करने की कार्रवाई की गयी।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*