जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
..तो क्या जांच रिपोर्ट आने के बाद इंस्पेक्टर व CO पर भी गिर सकती है गाज, MLA ने भी किया था इशारा
चंदौली जिले में शनिवार को अलीनगर थाना क्षेत्र में हुई हत्या के मामले में पुलिस महकमा अपनी ओर से एक जांच करा रहा है, जिसमें इस बात की सच्चाई जानने की कोशिश की जाएगी
 

 जांच रिपोर्ट आने के बाद होगी कार्रवाई

इंस्पेक्टर व CO पर भी गिर सकती है गाज

MLA ने भी किया था इशारा

चंदौली जिले में शनिवार को अलीनगर थाना क्षेत्र में हुई हत्या के मामले में पुलिस महकमा अपनी ओर से एक जांच करा रहा है, जिसमें इस बात की सच्चाई जानने की कोशिश की जाएगी कि आखिर पुलिस वालों ने किस तरह से इस मामले में लापरवाही बरती है और जब पहली बार इस गांव में कोई विवाद सामने आया था तो किस तरह से पुलिस ने मामले को सुलझाने की कोशिश की थी।

 पुलिस अधीक्षक ने इस मामले में जांच करने के लिए अपर पुलिस अधीक्षक को नियुक्त किया है और वह अपनी जांच रिपोर्ट अगले दो से 3 दिनों में देने वाले हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि उस रिपोर्ट के आधार पर पुलिस के कर्मचारियों और अधिकारियों पर भी गाज गिर सकती है।

 आपको बता दें कि मौके पर पहुंची स्थानीय विधायक साधना सिंह ने भी मीडिया से बातचीत के दौरान कहा था कि जब स्थानीय लोगों उनके पास अपनी शिकायत व फरियाद लेकर आए थे तो मामले में उचित कार्यवाही करने के लिए उन्होंने इंस्पेक्टर अलीनगर और पुलिस क्षेत्राधिकारी सदर से बात की थी। उसके बाद भी कोई ठोस कार्यवाही नहीं हुई, जिसके चलते यह घटना घटी है।

 इस बयान के बाद से पुलिस महकमे में यह चर्चा शुरू हो गई है कि जल्द ही पुलिसकर्मियों के साथ-साथ इंस्पेक्टर और पुलिस क्षेत्राधिकारी पर भी कार्यवाही हो सकती है। वहीं समाजवादी पार्टी के नेता भी पुलिसवालों पर कार्रवाई न होने पर चिंता जता रहे हैं और पुलिसवालों को बचाने की पहल की निंदा कर रहे हैं।

बोले एसपी अंकुर अग्रवाल

जब इस मामले में चंदौली जिले के पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल से बातचीत की गई तो उनका कहना था कि गांव में पोस्टर फाड़ने की घटना और उसके बाद हुई कार्यवाही उनके तैनाती के पहले की है। इस संदर्भ में अपर पुलिस अधीक्षक से विभागीय जांच कराई जा रही है। अगले दो-तीन दिनों में रिपोर्ट आने की संभावना है। रिपोर्ट में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी। इस मामले में किसी भी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा। इसके साथ ही साथ इस घटना में शामिल अपराधियों पर भी पुलिस की पैनी नजर है। सारे अपराधी पुलिस के रडार पर हैं। जल्द से जल्द सभी की गिरफ्तारी करके जेल के अंदर भेजा जाएगा और इन को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की कोशिश की जाएगी।