जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
जानिए कैसे हैं मौके के हालात, क्या कर रहे हैं चक्का जाम करने के बाद मनराजपुर गांव के लोग
गैंगेस्टर और जिला बदर अपराधी कन्हैया यादव के घर में जाकर दबिश के दौरान महिलाओं से मारपीट करने और अपराधी की बेटी की हत्या करने का आरोप लगा है।
 
अब लोगों के गुस्से का शिकार बन रही है सैयदराजा पुलिस, देखिए बवाल के समय की तस्वीरें और वीडियो

   चंदौली जिले की सैयदराजा पुलिस पर एक गैंगेस्टर और जिला बदर अपराधी कन्हैया यादव के घर में जाकर दबिश के दौरान महिलाओं से मारपीट करने और अपराधी की बेटी की हत्या करने का आरोप लगा है। बताया जा रहा है कि जब पुलिस गैंगस्टर के आरोपी कन्हैया यादव के घर एक दिन पहले पहुंची थी तो मौके पर वह नहीं मिला तो ऐसे में पुलिस आरोपी के भाई को एक दिन पहले पकड़ कर अपने साथ ले गयी थी। आज महिला पुलिस के साथ कन्हैया यादव के घर पहुंची पुलिस मैं उसके घर की पूरी तलाशी ली और जब वह घर पर नहीं मिला तो उसके घर की महिलाओं और लड़कियों के साथ हाथापाई और मारपीट की।  घर की महिलाओं ने इसका विरोध किया इस दौरान पुलिस ने उसकी 20 वर्षीय बेटी गुड़िया और 18 वर्षीय बेटी गुंजा के साथ भी कहासुनी और मारपीट की है, जिसमें दोनों जख्मी हो गई हैं।      

कहा जा रहा है कि इस दौरान महिला पुलिस भी मौजूद थी। इस पूरे घटनाक्रम में कन्हैया की 20 वर्षीय बेटी गुड़िया की मौत हो गई , जबकि 18 वर्ष की छोटी बेटी के हाथ की नस कटी हुई पाई गई है। इस घटना के बाद गुस्साए हुए लोगों ने जमकर बवाल काटा है और  लाठी-डंडे से लैस होकर सैयदराजा जमानिया मार्ग पर पहुंच गए हैं और चक्का जाम करते हुए कई वाहनों में तोड़फोड़ की है।  

      बताया जा रहा है कि इस दौरान डायल 112 की पुलिस की बाइक को भी तोड़ दिया है और दो पुलिसकर्मियों की पिटाई भी कर दी है, जिसमें एक पुलिसकर्मी किसी तरह से जान बचाकर भागने में सफल रहा है तथा दूसरा गंभीर रूप से घायल है, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गांव के वालों के द्वारा किए जा रहे बवाल को देखते हुए वहां पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात करते हुए कई थानों की फोर्स बुला ली गई है। इस मामले में चंदौली जिले के पुलिस अधीक्षक ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि शिकायत के बाद मामले में जांच बैठा दी गई है और इस मामले में जो कोई भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।  

prabhu narayan

 

  वैसे तो इस घटना को देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है, लेकिन सैयदराजा पुलिस के थाना प्रभारी उदय प्रताप सिंह की कार्यशैली हमेशा विवादों में रही है। वह तैनाती वाले दिन से लेकर आज तक कई ऐसी घटनाओं में चर्चा का विषय बने रहे, जिसमें चंदौली पुलिस या सैयद राजा थाने की पुलिस की काफी किरकिरी हुई है। थाने में भाजपा नेता की पिटाई के मामले में कई पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी थी वही चुनाव के समय सपा प्रत्याशी मनोज सिंह और सुशील सिंह के समर्थकों के बीच मारपीट के मामले में भी थाने पर देर रात गहमागहमी मचने के बाद मनोज सिंह पर मुकदमा दर्ज हुआ था जबकि सारे मामले को थानाध्यक्ष खुद अपने स्तर से निपटा सकते थे लेकिन मामले में हंगामा बढ़ने के बाद ही कार्यवाही हुई।