जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
..अब पुलिस पकड़ेगी कबाड़ी के पास किताबों को बेंचने वाले गुनहगारों को, क्या कह रहे हैं BSA
 

चंदौली जिले में कबाड़ की दुकान पर सरकारी स्कूलों में बांटी जाने वाली किताबों के बेचे जाने का मामला बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारी नहीं सुलझा पाए हैं। अब इस मामले में बेसिक शिक्षा अधिकारी ने सदर कोतवाली में तहरीर दी है और पुलिस से अनुरोध किया है कि मामले की जांच कर सच्चाई का पता लगाएं।

 आपको बता दें कि बेसिक शिक्षा विभाग के द्वारा जिले के प्राथमिक विद्यालयों में बांटने के लिए आई किताबों को चंदौली जिले के एसडीएम सदर न्यायिक प्रदीप कुमार ने कबाड़ी की दुकानों पर देखा था, तो इसकी शिकायत विभाग से की थी और मौके पर जांच पड़ताल के दौरान 8 क्विंटल सरकारी किताबें कबाड़ी की दुकान पर पकड़ी गई थीं।

 books on kabadi shop case

 इस मामले में वैसे तो बेसिक शिक्षा अधिकारी ने तीन सदस्य कमेटी का गठन करके जांच पड़ताल करने का आदेश दिया था, ताकि जल्द से जल्द कार्यवाही हो सके। साथ ही प्रकरण की जांच करने के लिए डिप्टी बीएसए के साथ ही सदर और सकलडीहा खंड शिखाधिकारी की टीम गठित कर दी थी। दूसरे दिन पुस्तक प्रभारी को हटाने की कार्रवाई कर दी गई। वहीं धानापुर बीआरसी की तरफ से पुस्तक पहुंचने की पुष्टि की गई थी। इस स्थिति में किताबें कबाड़ी की दुकान पर कैसे पहुंची इसको लेकर अधिकारी जांच में जुटे हुए हैं। लेकिन मामले में लगभग 2 सप्ताह का समय बीत जाने के बाद भी बेसिक शिक्षा विभाग इसके आरोपियों का पता नहीं लगा सका। अब विभाग को पुलिस महकमे से उम्मीद है कि वह इस मामले में जांच पड़ताल करके आरोपियों को पकड़ने का काम करें। 

 books on kabadi shop case

 इस संदर्भ में बेसिक शिक्षा अधिकारी सत्येंद्र सिंह ने बताया है कि विभागीय टीम के साथ मिलकर पुलिस अब इस मामले की जांच करेगी ताकि पूरे मामले के आरोपियों को पकड़ा जा सके फिलहाल इस मामले में सोमवार तक रिपोर्ट मिल जाने की संभावना है तभी स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।