जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
...तो क्या सांसद जी को याद है अपनी बात, आज भी नहीं पूरा हो सकेगा चंदौली का ओवर ब्रिज
चंदौली जिले में जिला मुख्यालय पर बनने वाला रेलवे ओवर ब्रिज को बनाने की स्पीड व तरीका चंदौली जिले के सांसद व कैबिनेट मंत्री भी ठीक नहीं कर पाए हैं।
 
आज भी नहीं पूरा हो सकेगा चंदौली का ओवर ब्रिज
कैसे चंदौली के लोग देंगे सांसद जी को जन्मदिन की बधाई

चंदौली जिले में जिला मुख्यालय पर बनने वाला रेलवे ओवर ब्रिज को बनाने की स्पीड व तरीका चंदौली जिले के सांसद व कैबिनेट मंत्री भी ठीक नहीं कर पाए हैं। मनमाने तरीके से और मनमाने गति से चलने वाले इस काम के पूरा होने को लेकर कौन सच बोल रहा है और कौन झूठ बोल रहा है..इसके लिए जनता को अपनी आंख खोलकर देखने व समझने की जरूरत है। वैसे तो इस ओवर ब्रिज को तय समय सीमा के अंदर 2019 में बन जाना चाहिए था। लेकिन ऐसा कई कारणों की वजह से न हो सका और इसको कई बार दी गयी तारीख पर पूरा कराने में डबल इंजन की सरकार व अफसर भी फेल नजर आए।

वैसे तो इस ओवर ब्रिज के काम में तेजी लाने व तय समय पर बनाने के कई बार निर्देश जारी किए जा चुके हैं, लेकिन हर बार वह तारीख आगे बढ़ा दी जाती है। एक बार फिर लगता है कि कैबिनेट डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय के द्वारा तय की गई 15 अक्टूबर 2021 की तारीख आगे बढ़ाने की जरूरत आ पड़ी है, क्योंकि आज तक काम पूरा होने की कोई उम्मीद नहीं है।

Chandauli Railway Over Bridge


     आपको बता दें कि चंदौली जिला मुख्यालय पर जाम से निजात दिलाने और रेलवे क्रॉसिंग बंद होने की समस्या से मुक्ति के लिए कई सालों से बन रहा रेलवे ओवर ब्रिज कब तक बनेगा.. इसकी कोई आखिरी तारीख तय नहीं हो पा रही है। जब भी इस ओवर ब्रिज के अधिकारियों के साथ आला अफसर बातचीत करते हैं या कोई मंत्री या जनप्रतिनिधि इसका निरीक्षण करता है तो वाहवाही लूटने के लिए एक नयी तारीख तय कर दी जाती है और जैसे-जैसे वह तारीख नजदीक आती है..वैसे फिर एक अगली तारीख दे दी जाती है। 

ऐसा एक बार दो बार नहीं पांच या 6 बार हो चुका है। भाजपा सरकार आने के बाद 2018 में रेलवे क्रासिंग पर ओवरब्रिज निर्माण के लिए हरी झंडी मिल गई। सबसे पहले जब यह ओवर ब्रिज बनना शुरू हुआ तो कहा जा रहा था कि एक साल के भीतर यह पुल बन जाएगा और 2019 के लोकसभा के चुनाव के पहले इसका लोकार्पण भी हो जाएगा..पर होनी को तो कुछ और ही मंजूर था।

Chandauli Railway Over Bridge
    इसके बाद दिसंबर 2019 और 15 जनवरी 2020 की तारीख तय हुयी कि संक्रांति के समय इसका चालू करा दिया जाएगा। फिर कोरोना की लहर में इसको लटकाने व काम को आधा अधूरा छोड़ने का बहाना मिल गया। इसके बाद कई बार इसके लोकार्पण की तारीख पर तारीख दी जाती रही है।

    कोरोना के बाद जब एक बार नो़ल अफसर व मंडलायुक्त ने इसका निरीक्षण किया को 31 अगस्त 2021 तक काम पूरा करने की बात कही गयी। इसके लिए डीएम ने कार्यदायी संस्था को 31 अगस्त तक निर्माण कार्य पूरा करने की हिदायत दी। इससे लोगों में पुल की सौगात मिलने की उम्मीद जग गई थी। लेकिन अभी निर्माण कार्य पूर्ण न होने से जनपदवासियों को एक और तारीख का इंतजार करना पड़ा। 

  Chandauli Railway Over Bridge

    इसके बाद आपको याद होगा कि 26-27 सितंबर को चंदौली जिले के सांसद और मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री डॉक्टर महेंद्र नाथ पांडे चंदौली जिले में मेडिकल कॉलेज और निर्माणाधीन रेलवे ओवरब्रिज का निरीक्षण करने आए थे अधिकारियों के साथ बातचीत के बाद उन्होंने रेलवे ओवरब्रिज को 15 अक्टूबर तक पूर्ण करने का आदेश दे दिया था। उस समय अधिकारियों ने उनके सुर में सुर मिलाते हुए हां कर दी, लेकिन ताजा हालात देखकर ऐसा लगता है कि इस पुल के पूरा होने में कम से कम डेढ़ से 2 महीने का समय और लगेगा.. ऐसे में इसकी एक और तारीख बढ़ानी पड़ेगी।

    आपको याद होगा कि भाजपा सरकार आने के बाद 2018 में रेलवे क्रासिंग पर ओवरब्रिज निर्माण के लिए हरी झंडी मिल गई। साथ ही शासन की ओर से 36 करोड़ रुपये बजट भी आवंटित कर दिया गया। इसके बाद ओवरब्रिज निर्माण कार्य की जिम्मेदारी कार्यदाई संस्था सेतु निगम को दी गई। वहीं एक साल में निर्माण कार्य पूर्ण करने का निर्देश दिया गया था। लेकिन निर्माण कार्य की धीमी गति के कारण तीन साल में भी पूरा नहीं हो पाया।