जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चंदौली जिला पंचायत का हाल : महिला सदस्य बैठी थीं घर में, सदन में पतिदेव काट रहे थे बवाल
चंदौली जिले की जिला पंचायत काफी दिलचस्प है। इसमें 35 जिला पंचायत सदस्य चुने जाते हैं, जिसमें अबकी बार 14 महिलाएं और 21 पुरुष निर्वाचित हुए हैं।
 
चंदौली जिला पंचायत कार्यालय 
सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेता अपनी पत्नी के नाम पर कर रहे थे राजनीति 
 

चंदौली जिले की जिला पंचायत काफी दिलचस्प है। इसमें 35 जिला पंचायत सदस्य चुने जाते हैं, जिसमें अबकी बार 14 महिलाएं और 21 पुरुष निर्वाचित हुए हैं। महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए महिलाओं को जिला पंचायत के रूप में जनता ने चुन तो लिया लेकिन उनके पति लोग उनको परदे में रखकर अपनी राजनीति व भौकाल को बनाए रखना चाहते हैं और उनके नाम पर अपनी राजनीति चमकाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं।

इस काम में सत्तापक्ष ही नहीं विपक्ष के लोग भी शामिल हैं। बात चंदौली जिले की बुधवार को हुयी जिला पंचायत की बैठक में देखने को मिली, जिसमें के सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेता अपनी पत्नी के नाम पर राजनीति करते देखे गए और मामला तू-तू-मैं-मैं तक जा पहुंचा था। पति लोग पत्नी के पद का भरपूर उपयोग अपना भौकाल बनाने में कर रहे हैं। 

जिला पंचायत की बैठक में चंदौली जिले के निर्वाचित जिला पंचायत सदस्यों में से केवल 2 महिला जिला पंचायत सदस्यों के रूप में शायरा बानो बबिता यादव ने शिरकत की और बाकी के पतिदेव उनकी आधिकारिक कुर्सी पर बैठ कर अपना भौकाल टाइट करते दिखे। इसमें भाजपा व सपा के साथ साथ कुछ अन्य दलों व निर्दल प्रतिनिधि भी शामिल थे।

साहब लोग बने रहे मूक दर्शक


 
इतना ही नहीं, यह सब कुछ आला अधिकारियों और जिला पंचायत के माननीय वर्तमान और पूर्व अध्यक्ष के सामने हुआ लेकिन उन्होंने इस मामले पर कोई ध्यान नहीं दिया और नेताओं को सबकुछ मनमाने तरीके से करने की मौन स्वीकृति दे दी थी। जिले के मुख्य विकास अधिकारी की भी बोलती इस दौरान बंद थी। 

Chandauli Zila Panchayat Meeting

इस बात पर हुआ हंगामा

जिला पंचायत की बैठक में शामिल जिला पंचायत सदस्यों से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को जिला पंचायत की बैठक में महिला सदस्यों के पति आपस में तू-तू मैं-मैं करते हुए दिख गए और एक दूसरे की सरकारों पर आरोप-प्रत्यारोप भी लगाने लगे। जिला पंचायत कार्यालय सभागार में आयोजित इस बैठक में शहाबगंज इलाके के सेक्टर 3 से जिला पंचायत सदस्य सीता देवी के पति दशरथ सोनकर ने जिला पंचायत के पूर्व प्रस्तावों पर काम न होने का मुद्दा उठाया और कहा कि पहले के प्रस्ताव पर काम नहीं हो रहा है। साथ ही साथ उन्होंने गांवों में होने वाली बेतहाशा बिजली कटौती की बात कही और सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ का नाम इसमें घसीटने लगे।

बस इसी पर भारतीय जनता पार्टी के समर्थित जिला पंचायत सदस्यों के भड़क गए और एक दूसरे की सरकारों की आलोचना करने लगे। बताया जा रहा है कि दशरथ सोनकर के आरोप पर बरहनी सेक्टर 1 के जिला पंचायत सदस्य सीमा सिंह के पति इंदल सिंह और सेक्टर 2 की जिला पंचायत सदस्य संध्या सिंह के पति मृत्युंजय सिंह दीपू इस बात को लेकर काफी नाराज हुए और एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते रहे। इतना ही नहीं ये लोग अपनी कुर्सी पर खड़े हो गए। मामला बिगड़ता देख सकलडीहा सेक्टर 4 से जिला पंचायत सदस्य संजय पांडेय और धानापुर इलाके के जिला पंचायत सदस्य के पति राजेश यादव ने मिलकर दोनों पक्ष के लोगों को शांत कराया.. तब जाकर बात आगे बढ़ी।

chandauli zila panchayat

 बताया जा रहा है कि इस दौरान लगभग 5 से 7 मिनट तक सदन में हंगामा चलता रहा और जिला पंचायत के अधिकांश महिला और पुरुष सदस्य मूकदर्शक बनकर देखते रहे। 

ये हैं जिला पंचायत की महिला सदस्य


 चंदौली जिले की जिला पंचायत में सदर ब्लाक से कुमारी संगम, धानापुर से रीमा देवी व कांति देवी, सकलडीहा से इंदु देवी, चहनियां से शायरा बानो व माया देवी, नौगढ़ से उषा देवी, शहाबगंज से सीता सोनकर, चकिया से मंजू देवी, बरहनी से सीमा सिंह, संध्या सिंह व रीना त्रिपाठी और नियामताबाद ब्लाक से शहाना बेगम, बबिता यादव जिला पंचायत सदस्य चुनी गयी हैं।