जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
बच्चों की पढ़ाई पर सरकार दे रही जोर, परिषदीय स्कूल के बच्चे प्रोजेक्टर पर करेंगे पढ़ाई
 


चंदौली जिले में प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर परिषदीय विद्यालयों में शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए हर स्तर से प्रयास किए जा रहे हैं। अब निजी स्कूलों के बच्चों की तरह परिषदीय विद्यालय के बच्चे भी प्रोजेक्टर और कम्प्यूटर पर पढ़ाई करते दिखेंगे। पहले चरण में कुल 57 विद्यालयों में प्रोजेक्टर लगाया जा रहा है। इसके लिए विद्यालयों का चयन किया गया है।


बताते चलें कि चंदौली जिले में शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के लिए शासन-प्रशासन की ओर से हर स्तर से प्रयास किया जा रहा है। वहीं नीति आयोग की भी निगाह रहती है। इसके तहत कई परिषदीय विद्यालयों में स्माट क्लास चलाए जा रहे हैं। अब प्राइवेट स्कूलों की तरह सरकारी विद्यालयों में भी शिक्षा को और भी बेहतर बनाने के लिए नीति आयोग की ओर से प्रोजेक्टर और कम्प्यूटर उपलब्ध कराया जा रहा है। फिलहाल जिले में 57 स्कूलों में प्रोजेक्टर और कम्प्यूटर लगाने की प्रक्रिया की जा रही है। इसमें बरहनी, चहनियां, चकिया, धानापुर, नियामताबाद, सकलडीहा व शहाबगंज विकास खंड के छह-छह विद्यालय और चंदौली ब्लाक में सात स्कूल और पीडीडीयू नगर क्षेत्र में कुल आठ विद्यालय शामिल हैं।


 इन विद्यालयों में प्रोजेक्टर और कम्प्यूटर लगाने की प्रक्रिया की जा रही है। जल्द ही विद्यालयों में पठन-पाठन करने वाले प्रोजेक्टर पर पढ़ाई करते नजर आएंगे।