जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
जिला प्रशासन की निकाली गयी शवयात्रा, भाकपा माले ने प्रदर्शन कर फूंका पुतला
सकलडीहा क्षेत्र में भाकपा माले और इंकलाबी नौजवान सभा पिछले 22 दिनों से पत्रकार और किसानों पर दर्ज फर्जी मुकदमा को लेकर अनिश्चित कालीन धरना पर है। सोमवार को संयुक्त रूप से जिला प्रशासन का शव यात्रा निकालकर धरना स्थल पर पुतला दहन करते हुए जिला प्रशासन पर मनमानी करने का आरोप लगाया
 
भाकपा माले और इंकलाबी नौजवानों की अनिश्चित कालीन धरना
जिला प्रशासन की निकाली गयी शवयात्रा
भाकपा माले ने प्रदर्शन कर फूंका पुतला
 

चंदौली जिले सकलडीहा क्षेत्र में भाकपा माले और इंकलाबी नौजवान सभा पिछले 22 दिनों से पत्रकार और किसानों पर दर्ज फर्जी मुकदमा को लेकर अनिश्चित कालीन धरना पर है। सोमवार को संयुक्त रूप से जिला प्रशासन का शव यात्रा निकालकर धरना स्थल पर पुतला दहन करते हुए जिला प्रशासन पर मनमानी करने का आरोप लगाया और कहा कि अपनी बात कहने की आजादी पर जिला प्रशासन कानूनी आंकड़ों का इस्तेमाल करते हुए रोक लगाने की कोशिश कर रहा है।


इस धरना प्रदर्शन के दौरान भाकपा माले के कार्यकर्ताओं ने तहसील प्रशासन और दोषी तहसीलकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग किया। अंत में प्रदेश सरकार पर भड़ास निकालते हुए फर्जी मुकदमा वापस लेने की मांग किया। 


वक्ताओं ने आरोप लगाया कि सरकार के इशारे पर अधिकारी किसान, गरीब, नौजवान, पत्रकार, शिक्षक, व्यापारी हर वर्ग का उत्पीड़न कर रही है। सत्ता के विरोध में आवाज उठाने पर फर्जी मुकदमा लाद दिया जा रहा है। हालत ऐसी हो गयी है कि सरेराह किसानों को रौंद दिया जा रहा है। आक्रोशित भाकपा माले और इंकलाबी नौजवान सभा के कार्यकर्ताओं ने ताजपुर प्रकरण में पत्रकार सहित किसानों के उपर दर्ज फर्जी मुकदमा और शोषण के खिलाफ जिला प्रशासन का शवयात्रा पूरे कस्बा में निकालकर प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी किया। अंत में धरना स्थल पर पहुंचकर जिला प्रशासन का पुतला दहन किया।


धरना प्रदर्शन करते हुए वक्ताओं ने कहा कि चंदौली जिले के  जिला प्रशासन को मामले की जांच कर दोषी तहसीलकर्मियों को निलंबित करते हुए कठोर कार्रवाई करनी चाहिए और  फर्जी मुकदमों को वापस ले लेना चाहिए। अगर मुकदमा वापस नहीं हुआ तो भाकपा माले केन्द्र और प्रदेश सरकार का पुतला दहन करने को मजबूर हो जाएगा और इसकी सारी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी।


 इस मौके पर जिला सचिव ठाकुर प्रसाद,अनिल यादव, इंद्रजीत मौर्य ,रमेश चौहान, अमित कुमार सोनू ,विजय विश्वकर्मा ,शमशेर चौहान ,तूफानी गोंड, विजय प्रसाद, आलोक राय ,मंगल राजभर ,डॉक्टर उमा नाथ चौहान, श्याम देई ,अनिता कुमारी ,रोहित जायसवाल,अनुज जायसवाल ,राजेश मौर्य, मनमोहन राजभर ,नीतीश जायसवाल ,रामप्यारे सैनी ,संजय यादव ,सुंदर राय ,अमजद अली ,निरंजन राय ,छांगुर राजभर, धनंजय कुमार ,ओंकार भारती ,सारनाथ राय आदि लोग मौजूद रहे। संचालन शशिकांत सिंह अध्यक्षता रमेश राय ने किया।