जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
..थोड़ी देर में पता चलेगा कैसे मुगलसराय से मथुरा पहुंच गया दीपक सिंह, क्यों रची अपहरण की कहानी
मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के डांडी से मोबाइल टावर इंजीनियर के अपहरण की गुत्थी को पुलिस ने चौबीस घंटे के अंदर सुलझाने का दावा किया है और आनन फानन में देर रात 12 बजे प्रेस कांफ्रेस की सूचना भी दे दी.....
 
मुगलसराय से मथुरा पहुंच गया दीपक सिंह
अपने ही अपहरण की रची कहानी

चंदौली जिले के मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के डांडी से मोबाइल टावर इंजीनियर के अपहरण की गुत्थी को पुलिस ने चौबीस घंटे के अंदर सुलझाने का दावा किया है और आनन फानन में देर रात 12 बजे प्रेस कांफ्रेस की सूचना भी दे दी..लेकिन पुलिस ने कुछ कारणों से प्रेस कांफ्रेंस को रद्द करने का फैसला ले लिया। 

 पुलिस के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इंजीनियर को मथुरा जिले के वृंदावन स्थित एक अपार्टमेंट से बरामद किया है। ऐसी भी चर्चा है कि वह जहां मिला है वह कमरा काफी दिन पहले बुक कराया गया था। ऐसी भी चर्चा जोरों पर है कि वह वहां पर शायद अपनी गर्लफ्रेंड या किसी महिला के साथ मौजूद पाया गया है। 

 मामले में पुलिस अधीक्षक अमित कुमार के अनुसार इंजीनियर दीपक सिंह ने खुद ही अपने अपहरण की साजिश रची थी ।

 दीपक के साले सुजीत सिंह और भाई संदीप सिंह भी मामले में मददगार हो सकते हैं। हालांकि दीपक के भाई व साले ने पुलिस को बताया था कि दीपक का किसी ने अपहरण कर लिया और उसके बारे में दीपक के स्तर से गढ़ी गयी कहानी बतायी थी।

माना जा रहा है कि पुलिस अब दीपक सिंह व उनके अपहरण की फर्जी कहानी गढ़ने वालों पर भी कार्रवाई करेगी।

इसके बाद मामले में पुलिस ने तेजी से कार्रवाई करते हुए निजी मोबाइल कंपनी के इंजीनियर कि बुधवार शाम को अपहरण की सूचना मिलने पर पुलिस व परिजनों में हड़कंप मच गया है और संदेह के घेरे में रहने वाले और साले की शिकायत पर मिली तहरीर के आधार पर जिला पंचायत सदस्य समेत तीन लोगों को पुलिस द्वारा हिरासत में भी ले कर कार्यवाही शुरू कर दी गई थी, लेकिन अभी तक अपहरण का कोई सुराग न मिलने के कारण पुलिस इधर उधर हाथ पैर मार रही थी।