जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अब जिलाधिकारी के साथ साफ साफ बात करके ही खरीद शुरू कराएंगे अनूप कुमार श्रीवास्तव, यह है उनकी पीड़ा
अनूप कुमार श्रीवास्तव ने साफ तौर पर कहा कि जिलाधिकारी फिलहाल जिले में नहीं हैं और उनका सीयूजी नंबर मुख्य विकास अधिकारी के पास है और उनको इसके बारे में जानकारी दे दी गयी है।
 

धान खरीद केन्द्र बंद करके सुरक्षा मांग रहे प्रभारी

जिले में नहीं हैं जिलाधिकारी

अब जिलाधिकारी के साथ साफ साफ बात

खरीद शुरू कराएंगे अनूप कुमार श्रीवास्तव

चंदौली जिले के उप विपणन अधिकारी अनूप कुमार श्रीवास्तव ने चंदौली समाचार के साथ बातचीत में स्पष्ट किया है कि किसानों द्वारा उनके साथ और अक्सर केंद्र प्रभारियों के साथ की जा रही बदसलूकी से नाराज क्रय केंद्र प्रभारियों ने चंदौली जिले में धान की खरीद बंद कर दी है और जब तक इस मामले पर आला अधिकारियों से बातचीत करके कोई फैसला नहीं हो जाता, तब तक चंदौली जिले में धान खरीद शुरू होने की कोई उम्मीद नहीं है।

 अनूप कुमार श्रीवास्तव ने साफ तौर पर कहा कि जिलाधिकारी फिलहाल जिले में नहीं हैं और उनका सीयूजी नंबर मुख्य विकास अधिकारी के पास है और उनको इसके बारे में जानकारी दे दी गयी है। उम्मीद है कि आज वह अपने क्रय केंद्र के प्रभारी के साथ जिलाधिकारी या प्रभारी जिलाधिकारी से बातचीत करेंगे। उसके बाद ही यह फैसला होगा कि कैसे धान खरीद केंद्र चलाए जाएं।

अनूप कुमार श्रीवास्तव ने साफ तौर पर कहा कि जिले तरह से बुधवार को उनके कार्यालय में कहासुनी हुयी और किसानों के साथ साथ वहां मौजूद अन्य लोगों ने गाली गलौज की..उसको देखकर लगता है कि कभी भी उनके उपर हमला हो सकता है। यही हाल क्रय केन्द्रों का भी है। जब तक उन्हें उचित सुरक्षा नहीं मिलेगी तब तक खरीद कैसे हो सकती है।

 धान खरीद करने वाले कर्मचारियों और केंद्र प्रभारियों ने अपने लिए सुरक्षा व्यवस्था की मांग की है और कहा है कि जब तक उनको सुरक्षा की गारंटी नहीं दी जाती, तब तक वह धान खरीद नहीं कर पाएंगे। क्योंकि प्रदेश सरकार और आला अधिकारियों के द्वारा की जा रही फेरबदल और खरीद के नियमों में बदलाव के कारण किसान काफी आक्रोशित हैं और उसका जवाब न तो केंद्र के प्रभारी दे पा रहे हैं और न ही जिले के अधिकारी।

 ऐसे में किसान आक्रोशित होकर क्रय केंद्र प्रभारियों और धान खरीद में जुड़े अधिकारियों के साथ बदतमीजी और बदसलूकी कर रहे हैं। इसी बात से पूरे कर्मचारियों में नाराजगी है और कर्मचारियों ने 30 दिसंबर को धान खरीद नहीं करने का ऐलान कर रखा है। आज पूरे जिले में धान खरीद ठप है, जब तक अधिकारी कोई ठोस आश्वासन नहीं देते हैं। तब तक धान खरीद शुरू होने की उम्मीद नहीं लग रही है।

 आपको बता दें कि चंदौली जिले के तमाम क्रय केंद्रों पर आज का ऑनलाइन टोकन जारी था और इसी उम्मीद से किसान अपना धान लेकर क्रय केंद्रों पर जुटे हुए हैं कि ऑनलाइन टोकन के आधार पर उनके खरीद की जाएगी, लेकिन कर्मचारियों द्वारा धान खरीदना करने के फैसले के बाद किसान काफी परेशान हैं और उनकी भी नजर आला अधिकारियों की तरफ है कि अधिकारी इस मामले को कैसे सुलझाते और निपटाते हैं।