जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
15 जनवरी से चंदौली जिले में मिलने लगेगी डायलसिस की सुविधा, इन सबकी होगी शुरुआत
चंदौली जिले के गरीबों और आम मरीजों को स्वास्थ्य विभाग की बड़ी सौगात मिलने जा रही है, यह सुविधा यहां के लोगों के लिए जीवनदायक साबित होगी।
 
 

मरीजों को स्वास्थ्य विभाग की बड़ी सौगात

चंदौली जिले के गरीबों और आम मरीजों को स्वास्थ्य विभाग की बड़ी सौगात मिलने जा रही है, यह सुविधा यहां के लोगों के लिए जीवनदायक साबित होगी।
 

बताते चलें कि वाराणसी मंडल की संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य मनीषा सिंह सेंगर ने चंदौली जिला मुख्यालय के पंडित कमलापति त्रिपाठी परिसर में पहुंचकर डायलिसिस सेंटर, बीएसएल 2 लैब, ब्लड कंपोनेंट यूनिट के लगने के स्थलों का निरीक्षण किया।

कहा जा रहा है कि जिले में इन सुविधाओं के द्वारा जहाँ गुर्दा रोगियों के लिए डायलसिस की सुविधा होगी वही कोरोना के मरीजों की आरटीपीसीआर की जांच तत्काल होगी। ब्लड कॉम्पोनेंट्स लैब के द्वारा मरीजों को ब्लड के साथ प्लाज्मा तथा प्लेटलेट्स की भी सुविधा मिलेगी। यह सुविधा अभी तक चंदौली जिले में उपलब्ध नहीं है। उसके लिए लोगों को वाराणसी या अन्य शहरों के चक्कर लगाने पड़ते हैं।

 इस संबंध में संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य वाराणसी मंडल मनीषा सिंह सेंगर ने बताया कि सरकार आम गरीब लोगों को राहत देने के लिए जिला मुख्यालय पर सभी तरह की समुचित सुविधा उपलब्ध कराने के प्रयास में है, जिसके तहत डायलिसिस की सुविधा तथा बीएसएल टू के माध्यम से करोना की तत्काल rt-pcr की जांच, ब्लड कॉम्पोनेंट्स लैब के माध्यम से जहां पहले केवल ब्लड मिलता था, वहीं अब प्लाजमा तथा प्लेटलेट्स तथा गुर्दा रोगियों के लिए डायलिसिस सेंटर आदि की भी व्यवस्था जिला मुख्यालय पर हो जाएगी। 

मनीषा सिंह सेंगर ने कहा कि चंदौली जिले में यह सारी व्यवस्थाएं दिसंबर के अंत एवं 15 जनवरी तक मरीजों के लिए मुहैया हो जाने की उम्मीद हैं। निरीक्षण के दौरान संयुक्त निदेशक के साथ मुख्य चिकित्सा अधिकारी बीपी द्विवेदी, ब्लड बैंक प्रभारी मनोज मिश्रा आदि लोग मौजूद रहे।