जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
वरासत के मामलों को लटकाने वालों की खैर नहीं, यह है DM साहब का ताजा आदेश

चंदौली जिले के जिलाधिकारी संजीव सिंह की अध्यक्षता में कर- करेत्तर  व राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई

 

 DM साहब की मीटिंग 

वरासत के मामलों को लटकाने वालों की खैर नहीं

यह है DM साहब का ताजा आदेश
 

चंदौली जिले के जिलाधिकारी  संजीव सिंह की अध्यक्षता में कर- करेत्तर  व राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई । बैठक के दौरान स्टांप एवं रजिस्ट्रेशन वसूली कम रहने पर गहरी नाराजगी जताते हुए वसूली में तेजी लाने के निर्देश है। 


नगर पालिका/नगर पंचायतों में विक्रय की गई संपत्तियों की सूची प्राप्त कर देय स्टांप शुल्क का सत्यापन कराने के निर्देश दिया। स्टांप चोरी पकड़े जाने पर जिलाधिकारी ने नियमानुसार कार्यवाही के निर्देश दिए। विभिन्न मदों की विवाद रहित लंबित प्रकरणों में वसूली शीघ्रता के साथ कराने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिया। अमीन वाइज राजस्व वसूली लक्ष्य के सापेक्ष कम पाई गई। नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी तहसीलदार को वसूली में वृद्धि लाने के निर्देश दिए। 


जिलाधिकारी ने निर्देशित करते हुए कहा कि सम्बन्धित विभाग अपने-अपने विभाग की लम्बित आरसी वसूली की लिस्ट जो विवाद रहित है अविलंब उपलब्ध करा दें। संबंधित तहसीलदारगण प्राथमिकता के आधार पर ऐसी समस्त आर0 सी0की शत-प्रतिशत वसूली कराना सुनिश्चित करें। 


जिलाधिकारी ने कहा कि संबंधित विभाग अपने लंबित विद्युत बिलों का भुगतान तत्काल कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी द्वारा खनन विभाग की समीक्षा के दौरान गत वर्ष के सापेक्ष वसूली की स्थिति बेहद खराब पाई गई। प्रवर्तन कार्य में तेजी लाकर राजस्व वसूली में तेजी लाने के निर्देश खनन अधिकारी को दिया। जिलाधिकारी ने परिवहन विभाग की राजस्व वसूली लक्ष्य के सापेक्ष कम रहने पर वसूली में वृद्धि लाने के निर्देश दिए। 

 dm chandauli order


        

जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारीगण को राष्ट्रीय परिवारिक लाभ योजना के लंबित आवेदन पत्रों का शीघ्रता से सत्यापन कराते हुए समाज कल्याण विभाग को उपलब्ध करा दिए जाने के निर्देश दिए जिससे पात्र लाभार्थियों को धनराशि का भुगतान कराया जा सके। जिलाधिकारी पेंडिंग फाइलों का तत्काल निस्तारण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। 

जिलाधिकारी ने कहा कि धान खरीद के दृष्टिगत काश्तकार एवं भूमि संबंधित खतौनी आदि का सत्यापन अभिलंब करा लिए जाएं जिससे पारदर्शी तरीके से कृषकों के धान की खरीद में सहूलियत हो सके। समीक्षा के दौरान विभागों की मांग के सापेक्ष वसूली की स्थिति अच्छी नहीं पायी गयी। उप जिलाधिकारीगण/ तहसीलदारगण को निर्देशित किया कि प्राथमिकता के आधार पर राजस्व वसूली तेजी से कराएं। 


जिलाधिकारी ने कहा कि अविवादित वरासत के प्रकरणों को क़त्तई लंबित न रखें।  5 वर्ष से अधिक के लंबित वादों का प्राथमिकता के आधार पर शत प्रतिशत निस्तारण सुनिश्चित हो। धान खरीद के दृष्टिगत क्रय केंद्रों पर सुविधाओं का प्रबंध एवं स्टोरेज के पर्याप्त प्रबंध की जांच कर व्यवस्थाओं की जायजा समस्त उप जिलाधिकारीगण अवश्य ले लें। जिलाधिकारी ने कहा आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित करें, प्रतिदिन पोर्टल पर प्राप्त हुए प्रार्थना पत्र को समयबद्ध  एवं गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित करें।


इस बैठक के अंत में जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि संक्षित मतदाता पुनरीक्षण  का कार्य चल रहा है, इस दौरान विशेष तिथियों के दौरान बूथों पर शत प्रतिशत बीएलओ की उपस्थिति सुनिश्चित हो तथा विशेष तिथियों के एक दिन पूर्व ही गांव में मुनादी करा दे ताकि गांव के छूटे हुए नए मतदाता अपना फार्म भर सके। 


वहीं बैठक के दौरान ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/ उप जिलाधिकारी चकिया प्रेम प्रकाश मीणा, समस्त उपजिलाधिकारीगण एवं तहसीलदारगण तथा संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।