जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
..तो क्या अब एसपी चंदौली को हटवाने की कोशिश करेंगे भाजपा के नेता, देखिए एक खास वीडियो
पार्टी के कार्यकर्ताओं को इस बात से संतोष नहीं हो रहा है.. वह चंदौली जिले के पुलिस अधीक्षक अमित कुमार के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।
 

चंदौली के एसपी को हटवाना चाह रहे हैं भाजपा नेता

एसपी के खिलाफ भाजपा के लोगों में दिख रहा है गुस्सा

विधायक व जिलाध्यक्ष के सामने उठी है मांग

 

चंदौली जिले के सैयदराजा थाना क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता के साथ थाने के अंदर ही बदसलूकी और मारपीट का मामला केवल थानाध्यक्ष, उपनिरीक्षक और सिपाहियों तक सीमित नहीं होता नजर आ रहा है। अब इस मामले की आंच पुलिस अधीक्षक की ओर भी जाने लगी है। लोग अब चंदौली के एसपी अमित कुमार को हटाने की मांग करने लगे हैं।

सैयदराजा थाना परिसर में कई घंटों की मेहनत और मशक्कत के बाद भले ही भारतीय जनता पार्टी के नेता और कार्यकर्ता पुलिस के उपनिरीक्षक और पांच सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने में कामयाब हो गए हैं, लेकिन पार्टी के कार्यकर्ताओं को इस बात से संतोष नहीं हो रहा है। वह चंदौली जिले के पुलिस अधीक्षक अमित कुमार के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

 एक ऐसा ही वीडियो चंदौली समाचार के हाथ लगा है, जिसमें भाजपा के जिला अध्यक्ष अभिमन्यु सिंह और विधायक सुशील सिंह आपस में इस मामले को लेकर बातचीत कर रहे हैं, तभी पीछे से भारतीय जनता पार्टी के कई नेता और कार्यकर्ता चंदौली जिले के पुलिस अधीक्षक अमित कुमार को हटाने की भी पैरवी कर रहे हैं। 

भाजपा के नेताओं का आरोप है कि पुलिस अधीक्षक के कहने पर ही मामला दर्ज नहीं हो रहा था, इसलिए पुलिस अधीक्षक को भी चंदौली जिले से हटाया जाना चाहिए। भाजपा के कार्यकर्ताओं को चंदौली के पुलिस अधीक्षक की कार्यशैली पसंद नहीं है।

आपको बता दें कि विशाल मधेशिया उर्फ टून्नू कबाड़ी की पुलिसकर्मियों के द्वारा पिटाई कर दिए जाने से पुलिस व भाजपा नेताओं में ठन गयी थी। पता चला कि नेताजी दो पक्षों के विवाद का समझौता कराने की नीयत से थाने पर गए थे। पार्टी कार्यकर्ता के पिटाई की जानकारी होते ही भाजपाइयों का थाने पर जमावड़ा होने लगा था। थोड़ी ही देर में जिलाध्यक्ष व नपं चेयरमैन सहित दर्जनों कार्यकर्ता थाने पहुंचकर धरने पर बैठ गए थे। वहीं सीओ सदर अनिल राय पहुंचकर देर रात तक समझाने-बुझाने में कोशिश की लेकिन भाजपा नेता दोषी पुलिस वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के बाद ही थाने से बाहर निकले थे।