जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अब आया है टुन्नू कबाड़ी एक और वीडियो, पुलिस के सामने कैसे-कैसे लग रहे हैं आरोप

पुलिस एक लड़के साथ चोरी के कुछ सामानों की जांच पड़ताल के संदर्भ में बातचीत कर रही है। इस वीडियो में भाजपा नेता विशाल मधेशिया उर्फ टुन्नू कबाड़ी का नाम बार बार आ रहा है।

 

टुन्नू कबाड़ी के कारनामों को खोल रही पुलिस

कबाड़ी के काम की जांच पड़ताल

लड़का लगा रहा है गंभीर आरोप

चंदौली जिले के सैयदराजा मंडल के उपाध्यक्ष के साथ पुलिस द्वारा मारपीट किए जाने के बाद एक दूसरे के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के पर तरह-तरह के वीडियो वायरल होने शुरू हो गए हैं। आज एक और वीडियो चंदौली समाचार के हाथ लगा है, जिसमें पुलिस एक लड़के साथ चोरी के कुछ सामानों की जांच पड़ताल के संदर्भ में बातचीत कर रही है। इस वीडियो में भाजपा नेता विशाल मधेशिया उर्फ टुन्नू कबाड़ी का नाम बार बार आ रहा है।

वैसे तो चंदौली समाचार इस बात की पुष्टि नहीं करता है कि जो लड़का बार-बार भाजपा नेता विशाल मधेशिया उर्फ टुन्नू कबाड़ी का नाम ले रहा है और उनके उपर जो आरोप लगा रहा है वह एकदम सही है या गलत है। यह तो जांच के बाद पता चलेगा कि आखिर यह लड़का क्यों इस तरह की बात कह रहा है और उनके द्वारा किस तरह के काम किए जाते हैं। 

इस वीडियो में पुलिस द्वारा पूछताछ के दौरान उसके काम के बारे में जानकारी ली जा रही है और उसके काम में शामिल लोगों के बारे में जानकारी ली जा रही है। 

इस वीडियो को देखकर लगता है कि इसमें पुलिस व एक लड़के के बीच बातचीत व पूछताछ हो रही है। पुलिस के द्वारा यह वीडियो कई महीने पहले रिकॉर्ड किया गया था। जो पुलिस का अफसर बात कर रहा है वह अब यहां तैनात भी नहीं है। वह अन्यत्र स्थानांतरित हो चुका है। 


 बताते चलें कि सैयदराजा में भाजपा नेता व पुलिस हुयी मारपीट के मामले में मुकदमा दर्ज होने के बाद तरह-तरह की वीडियो वायरल होने की कड़ी में एक और नया वीडियो तहलका मचा रहा है। वायरल वीडियो कल से ही सोशल मीडिया में छाया हुआ है। 

हालांकि पुलिस सूत्रों के द्वारा बताया जा रहा है कि यह वीडियो सैयदराजा थाने का ही है। उस समय थाना प्रभारी लक्ष्मण पर्वत के कार्यकाल में रिकॉर्ड किया गया था। यह वीडियो पूछताछ के दौरान बाकायदा प्रूफ तके लिए रिकॉर्ड हुआ था। उसने पूछताछ की कार्यवाही एक वरिष्ठ दारोगा द्वारा की जा रही है। 

अब सवाल यह भी उठता है कि जब यह पूछताछ की गई और ऐसा मामला था तो तब टून्नू कबाड़ी के ऊपर पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गयी और यदि यह फेक वीडियो है तो इसे वायरल करके कुछ लोग कहीं ना कहीं भाजपा की छवि खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। अगर यह भाजपा के विपक्षियों की एक चाल है तो भाजपा के नेताओं को सक्रिय होकर ऐसे लोगों पर नकेल कसने की कोशिश करनी चाहिए।