जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
इन सहकारी समितियों पर यूरिया खाद के लिए दूसरे दिन भी मारामारी, ब्लैक मार्केटिंग की हो रही चर्चा

चंदौली जिले के शहाबगंज विकासखंड अंतर्गत सहकारी समिति इलिया एवं खरौझा पर खाद वितरण को लेकर दूसरे दिन बुधवार को भी किसानों की भारी भीड़ उमड़ पड़ा।

 

जरा सहकारी समितियों पर भी ध्यान दीजिए साहब लोग

चुनावी सीजन में खाद के लिए परेशान हो रहे हैं इलाके के किसान  

चंदौली जिले के शहाबगंज विकासखंड अंतर्गत सहकारी समिति इलिया एवं खरौझा पर खाद वितरण को लेकर दूसरे दिन बुधवार को भी किसानों की भारी भीड़ उमड़ पड़ा।

 बता दें कि इलिया में सहकारी समिति पर आए मात्र 600 बोरी खाद को लेने के लिए किसानों का हुजूम देखकर सचिव भोला प्रसाद ने लाइन लगाने के बाद ही खाद वितरण की बात कही तो किसानों ने हो-हल्ला मचाना शुरू कर दिया। बाद में आए पुलिस के जवानों में लाइन लगवाकर खाद का वितरण शुरू कराया। वहीं खरौझा सहकारी समिति पर भी दूसरे दिन खाद लेने के लिए किसान सुबह ही समिति पर डट गए। भारी भीड़ के बाद भी पुलिसकर्मियों के न रहने से अव्यवस्था का बोलबाला रहा। वहीं खाद न मिलने से किसान आक्रोशित हो उठे। 

 Farmers Suffering For Urea Fertilizers

इसी बीच क्षेत्र के भ्रमण पर आए कोतवाल राजेश यादव को देखते ही किसानों ने उनके वाहन को रोक दिया और अपनी समस्या बतायी। उन्होंने स्थिति से अधिकारियों को अवगत कराने की बात कह कर किसानों को मनाया। वहीं भीड़ के चलते कहीं भी कोविड-19 का पालन नहीं किया जा रहा है। पुलिस भी कोविड गाइडलाइन के प्रति अक्षम साबित हो रही है। 

 किसान विकास मंच के संयोजक रामअवध सिंह का आरोप है कि अधिकारियों की मिलीभगत से खाद की कालाबाजारी की जा रही है। अधिकारी रिश्तेदारों को बिहार में खाद की सप्लाई कर रहे हैं।