जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
देखिए वीडियो : गौशाला में मर रहे जानवर, सड़क पर फेंक कर भाग जाते है सैयदराजा नगर पंचायत कर्मचारी
नगर पंचायत स्थापित गौशाला में मरे जानवरों को नेशनल हाईवे 2 के किनारे टाउन एरिया के कर्मचारी फेंक कर फरार हो रहे थे । तभी गौ रक्षा दल के लोगों द्वारा इस नजारे को कैद कर लिया गया ।
 

गौशाला में मर रहे जानवर

सड़क पर फेंक कर भाग जाते है कर्मचारी 

चंदौली जिले के सैयदराजा नगर पंचायत स्थापित गौशाला में मरे जानवरों को नेशनल हाईवे 2 के किनारे टाउन एरिया के कर्मचारी फेंक कर फरार हो रहे थे । तभी गौ रक्षा दल के लोगों द्वारा इस नजारे को कैद कर लिया गया ।


 बताते चलें कि सैयदराजा नगर पंचायत की तरफ से एक गौशाला संचालित किया जाता है जिसमें लोगो का मानना है कि गौशाला पशुओं की सेवा के लिए नहीं बल्कि यहां गौवंश को मारने का केंद्र बनाया गया है। जिस का एक नजारा आज आप खुद ही देख सकते हैं एक मरी हुई गाय को  टाउन एरिया के सफाई कर्मियों द्वारा बकायदे टाउन एरिया की गाड़ी पर लाद कर उसे नेशनल हाईवे 2 पर लाकर सड़क के किनारे फेंकने का कार्य किया जा रहा था।  तभी गौ रक्षा दल के लोगों द्वारा फेंकने के दौरान उसका वीडियो बना लिया गया। इस नजारे को कैद देखकर टाउन एरिया के सफाई कर्मी सकते में आ गए ।

Gaushala cow death
इस के बाद जब गौरक्षा दल के सदस्यों द्वारा विरोध किया गया तो इसी तरह उसे छोड़कर चले गए। इस संबंध में टाउन एरिया के अधिशाषी अधिकारी से वार्ता हुई तो उन्होंने पहले तो यह नहीं बता पाए कि उनके गौशाला में अब तक कितने गोवंश हैं । जिनका गौशाला में भारण पोषण किया जा रहा है। जब उनसे वार्ता हुई तो उन्होंने कहा कि गौशाला में मरे हुए जानवरों को बकायदे गड्ढा खनके दफनाने का कार्य किया जाता है, लेकिन यहां तो कुछ और ही नजारा चल रहा है। ना ही गौशाला को कोई देखने वाला है और ना ही यहां की व्यवस्था। जिसके कारण यहां जानवरों की मरने के सिवाय और कोई चारा नहीं है।


 इस संबंध में टाउन एरिया अर्थशास्त्री अधिकारी ने फोन कर बताया कि मरे हुए गोवंश को दफनाने के लिए कर्मचारियों को निर्देश दिया गया है अब देखना है कि इन कर्मचारियों द्वारा इस गोवंश को किस प्रकार दफनाने का कार्य किया जाता है।