जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अलीनगर पुलिस की लापरवाही से मारपीट, पत्थरबाजी व हत्या, जानिए क्यों बढ़ा है बवाल
चंदौली जिले के अलीनगर थाना क्षेत्र के सिकटिया और तारनपुर दुसधान बस्ती के लोग एक मामले को लेकर एक दूसरे पर हमलावर हो गए हैं।
 

अलीनगर पुलिस की लापरवाही से मारपीट

पत्थरबाजी व हत्या व बवाल 

चंदौली जिले के अलीनगर थाना क्षेत्र के सिकटिया और तारनपुर दुसधान बस्ती के लोग एक मामले को लेकर एक दूसरे पर हमलावर हो गए हैं। दोनों तरफ से आज जमकर पत्थरबाजी हुई। इस दौरान शनिवार की सुबह सिकटिया चौराहे पर तारनपुर गांव के रहने वाले एक व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या भी कर दी गई है, जबकि वहां पर मौजूद एक व्यक्ति किसी तरह से अपनी जान बचाकर भागने में सफल रहा है।

 कहा जा रहा है कि इसके बाद बवाल और बढ़ गया है। फिलहाल दुसधान बस्ती के लोग मृतक की लाश को सड़क पर रखकर जाम किया हुआ है और मौके पर डीएम और एसपी को बुलाने की मांग कर रहे हैं। चंदौली जिले के जिला और पुलिस प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए 3 थानों की फोर्स मौके पर बुला ली है और ग्रामीण भी मौके पर भारी संख्या में जुटे हुए हैं।

 स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के अनुसार सिकटिया चौराहे पर बबलू पासवान अपनी चाय पान की दुकान और कमला यादव अपने मिठाई की गुमटी लगाकर रोजी रोजगार चलाते थे। बबलू और कमला के बीच किसी बात को लेकर आपस में विवाद हुआ है। उसी से यह मामला बढ़ने लगा है। आरोप लगाया जा रहा है कि कमला यादव और उनके परिवार के कुछ लोगों ने बुधवार की रात में बबलू पासवान की गुमटी में आग लगा दी थी। इसके बाद गुरुवार को दोनों पक्ष अलीनगर थाने भी पहुंचे थे, लेकिन अलीनगर पुलिस ने मामले में लापरवाही बरती और बिना ठोस कार्यवाही के मामले को रफा-दफा कर दिया।

Hangama Bawal Murder

 इसके बाद लोगों का आक्रोश ठंडा नहीं हुआ और शुक्रवार की रात कमला यादव की गुमटी में भी आग लगा दी गई। इसके बाद जैसे ही शनिवार की सुबह हुई तो तारनपुर दुसधान बस्ती के दो युवक जैसे ही सिकटिया चौराहे पर पहुंचे वहां पर पहले से मौजूद लोग दोनों पर टूट पड़े। 

 बताया जा रहा है कि इस दौरान 19 वर्षीय विशाल पासवान की मौत हो गई तथा 20 वर्षीय शेरू किसी तरह अपनी जान बचाकर भागने में सफल रहा। विशाल पासवान की मौके पर मौजूद लोगों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी है। जैसे ही हत्या की जानकारी दुसधान बस्ती के लोगों को हुई दोनों तरफ से पत्थरबाजी शुरू हो गई, जो काफी देर तक जारी रही है। ग्रामीण पुलिस को मौके पर जाने नहीं दे रहे हैं और मौके पर जिले के आला अफसरों को बुलाने की मांग कर रहे हैं।