जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
डायरिया की चपेट में आने से अनुराग की मौत, दो दर्जन लोग अस्पताल में भर्ती
चकिया क्षेत्र में डायरिया की चपेट में आने से छित्तमपुर गांव निवासी अनुराग (3) की मौत हो गई। वही बस्ती के दो दर्जन लोगों को संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती किया गया है।
 

चकिया में डायरिया का प्रकोप 

डायरिया की चपेट में आने से अनुराग की मौत

दो दर्जन लोग बीमार 

चंदौली जिले के चकिया क्षेत्र में डायरिया की चपेट में आने से छित्तमपुर गांव निवासी अनुराग (3) की मौत हो गई। वही बस्ती के दो दर्जन लोगों को संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती किया गया है। डायरिया से गांव के लोग सकते में आ गए हैं।


बताते चलें कि शहाबगंज विकास क्षेत्र के सुदूरवर्ती छित्तमपुर गांव के अनुसूचित बस्ती निवासी दीपक राम का पुत्र अनुराग (3) शुक्रवार की रात उल्टी दस्त से हाल परेशान हो गया। स्वजन गांव के नीम हकीम की शरण में लेकर पहुंचे। शनिवार की दोपहर तक बालक के स्वास्थ्य में सुधार नहीं होने पर स्वजन बाइक से लेकर चकिया संयुक्त चिकित्सालय आ रहे थे कि बनभीषमपुर पुर गांव के पास बालक ने दम तोड़ दिया। बालक के शव को लेकर स्वजन घर पहुंचे तो मां संजू (25) चिंता (21) रिया (3) काजल (8) सरिता (18) सुनैना (12) उल्टी दस्त से पीड़ित देख लोग हाल परेशान हो गए।


स्वजन एंबुलेंस 108 नंबर की सेवा से देर शाम को संयुक्त चिकित्सालय में बीमार मरीजों को भर्ती कराए। सूचना शहाबगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को दी। लेकिन स्वास्थ्य कर्मी गांव में नहीं पहुंचे। भोर में बस्ती के अंकिता (8) अन्नु (13) सुनीता (14) राजा बाबू (6) अंश बाबू (3) किरण (14) गौरीशंकर (12) गरिमा (8) की हालत खराब होने पर एंबुलेंस से प्रातः को संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। 

diarrhea in Chakia


दोपहर में शहाबगंज से स्वास्थ्य टीम पहुंची लेकिन दवा के अभाव में बैरक चली गई। इधर बस्ती में डायरिया पीड़ित मरीजों की संख्या में वृद्धि होने का सिलसिला जारी रहा। 

 
इस संबंध में चकिया छित्तमपुर गांव के अनुसूचित बस्ती निवासी राम कवल, चौथी राम, अवधेश, संजय आदि लोगों ने दूषित जल के सेवन से डायरिया फैलने की आशंका जताई। कहा की बस्ती एकमात्र सरकारी हैंडपंप का पानी का सेवन करते हैं। बताया शहाबगंज से स्वास्थ्य कर्मी दोपहर में गांव में पहुंचे। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से ब्लीचिंग पाउडर व दवा लाने को कह कर चले गए।


वही जिला संयुक्त चिकित्सालय के डाक्टर आर आर यादव बी बताया कि डायरिया पीड़ित भर्ती मरीजों की हालत स्थिर है। चिकित्सालय में पर्याप्त दवा व संसाधन मौजूद है। मरीजों के तीमारदारों को स्वच्छता संबंधित आवश्यक सलाह दी गई है।