जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
प्रेम विवाह के बीच आ धमकी पुलिस, धर्म परिवर्तन कराकर होने जा रही थी शादी
बताया जा रहा है यहां एक युवती का धर्म परिवर्तन करा कर जबरन शादी की तैयारी चल रही थी...
 

हिन्दू लड़की से शादी की कोशिश

खोज रही थी मिर्जापुर की पुलिस

वकीलों की पहल से पुलिस को मिली कामयाबी

चंदौली जिले की चकिया कोतवाली क्षेत्र में स्थित काली माता के पोखरे पर आज पुलिस को अचानक एक बड़ी कार्यवाही करनी पड़ गई, जहां शादी के मंडप में खलल पड़ने की बात कही जा रही है। बाद में मिर्जापुर पुलिस ने दोनों को अपनी कस्टडी में लेकर कार्रवाई की है।

 बताया जा रहा है यहां एक युवती का धर्म परिवर्तन करा कर जबरन शादी की तैयारी चल रही थी, वहीं दूल्हा बने युवक के रिश्तेदार और परिजन कचहरी में जाकर धर्म परिवर्तन का कागजात बनवाने में जुटे हुए थे। 

बताया जा रहा है कि जब अधिवक्ताओं को कचहरी परिसर में इस बात का शक हुआ कि शादी की तैयारी करने वाले युवक और युवती अलग-अलग समुदाय से संबंधित हैं, तो उन्होंने तत्काल पुलिस को सूचना दे दी और पुलिस ने मामले में तेजी दिखाते हुए शादी की तैयारी कर रहे लोगों को उठा लिया।

मामले में मिली जानकारी के अनुसार जब परिजन कचहरी में अधिवक्ताओं से शादी के लिए कागजात तैयारी करा रहे थे, तभी उन्हें धर्मांतरण का शक हुआ। हालांकि पहले तो अधिवक्ताओं ने कागजात बनवा रहे लोगों को कागज बनाकर दे दिया, लेकिन दूसरी तरफ तत्काल पुलिस को भी सूचना दे दी। इससे मौके पर पहुंची चकिया पुलिस दूल्हा-दुल्हन और बारातियों को कोतवाली उठा लायी।

बताया जा रहा है कि लड़की के पिता मिर्जापुर जनपद के जमालपुर के रहने वाले हैं और उन्होंने जमालपुर थाने में युवक के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करा रखा था। जमालपुर पुलिस ने युवक को विभिन्न धाराओं में कार्रवाई करके जेल भेज दिया है।

 जानकारी के अनुसार मिर्जापुर जिले के जमालपुर थाना क्षेत्र के निवासी एक हिंदू की लड़की को लेकर बलुआ थाना क्षेत्र के रहने वाले इजहार अहमद ने शादी की तैयारी की थी और उसे लेकर वह चकिया स्थित काली मंदिर के परिसर में पहुंच गया। इस समय युवक के परिवार के अन्य लोग भी मौजूद थे। यहां आरोप लगाया गया है कि युवती का धर्म परिवर्तन कराकर लोग कोर्ट मैरिज कराने की योजना बना रहे थे। परिजन कचहरी में कागजात तैयार कराने पहुंचे थे और दूल्हा-दुल्हन अलग-अलग समुदाय के होने के कारण ही अधिवक्ताओं को संदेह हो गया।

कहा जा रहा है कि पहले तो वकीलों ने शादी के कागजात को बनाकर तो दे दिए लेकिन इस मामले की जानकारी पुलिस को भी दे दी। आनन-फानन में उप निरीक्षक राजकुमार शुक्ला मौके पर पहुंचे और दूल्हा-दुल्हन सहित समस्त परिजनों को हिरासत में ले लिया। उसके बारे में पूछताछ करके मिर्जापुर पुलिस को भी सूचित कर दिया। थोड़ी ही देर में मिर्जापुर पुलिस भी चकिया पहुंच गई। 

युवती के पिता ने युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा रखा था, जिसके आधार पर पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया और जेल भेज दिया है। कोतवाली प्रभारी राजेश यादव ने बताया कि लड़की मिर्जापुर जिले के जमालपुर की रहने वाली थी, जबकि युवक चंदौली जिले के बलुआ क्षेत्र का रहने वाला है। जमालपुर में मुकदमा दर्ज होने के कारण दोनों को मिर्जापुर पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया है और वहां पर संबंधित धारे में मुकदमा दर्ज करा कर कार्यवाही की जा रही है।