जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
15 नवंबर तक गड्ढा मुक्त हो जाएंगी चंदौली की सड़कें, 9 करोड़ से अधिक की कार्य योजना को मंजूरी
सड़कों पर बने गड्ढों को भरने के लिए पीडब्ल्यूडी ने शासन के पास नौ करोड़ 50 लाख की कार्ययोजना बनाकर भेजी थी। कार्ययोजना स्वीकृत होने के बाद विभाग को धन मिलना आरंभ हो गया है। अब विभाग ने सड़कों पर बने गड्ढों को भरने का कार्य आरंभ कर दिया है।
 
15 नवंबर तक गड्ढा मुक्त हो जाएंगी चंदौली की सड़कें
9 करोड़ से अधिक की कार्य योजना को मिली मंजूरी

उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से खस्ताहाल सड़कों को सुधारने और उसमें हुए बड़े-बड़े गड्ढों को बांटने का कार्य तेजी से किया जा रहा है । इसी क्रम में  शासन की ओर से प्रदेश की सड़कों को गड्ढामुक्त करने के लिए 15 सितंबर से 15 नवंबर तक अभियान चलाया जा रहा है। सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के अभियान के तहत जिले में भी करीब 800 किलोमीटर की सड़कों को गड्ढामुक्त यह जाने की तैयारी है इसके लिए कुछ जगहों पर काम भी शुरू होने जा रहा है।

आपको बता दें कि सड़कों पर बने गड्ढों को भरने के लिए पीडब्ल्यूडी ने शासन के पास नौ करोड़ 50 लाख की कार्ययोजना बनाकर भेजी थी। कार्ययोजना स्वीकृत होने के बाद विभाग को धन मिलना आरंभ हो गया है। अब विभाग ने सड़कों पर बने गड्ढों को भरने का कार्य आरंभ कर दिया है।

Road Construction


बरसात के दौरान जिले की कई प्रमुख सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढे बन गए थे। इससे लोगों को आवागमन में काफी कठिनाई उठानी पड़ रही थी। लोगों की समस्या को देखते हुए शासन ने सड़कों पर बने गड्ढों को भरने के लिए नए सिरे से तैयारी शुरू कर दी है।  

चंदौली जिले में बारिश के कारण क्षतिग्रस्त होने वाली मुख्य सड़कों में पड़ाव से पचफेड़वा तक जीटी रोड का करीब 15 किलोमीटर हिस्सा, चंदौली-चहनिया- गाजीपुर मार्ग, सकलडीहा- अमड़ा मार्ग सहित अन्य ग्रामीण सड़कें शामिल हैं। इन सड़कों पर बने गड्ढों के कारण लोगों का चलना मुश्किल भरा हो गया था। सड़कों पर बने गड्ढों को भरने के लिए कई स्थानों पर लोगों ने धरना-प्रदर्शन भी किया था। साथ ही सड़कों पर बने गड्ढों में धान रोपकर विरोध दर्ज कराया था। इसके बाद बरसात समाप्त होते ही सड़क पर बने गड्ढों को भरने का कार्य आरंभ होने से लोगों ने राहत की सांस ली है।

Reality of CC Road Constrution

सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का काम लोक निर्माण विभाग को तय सीमा 15 नवंबर तक करना है, ताकि शासन के निर्देश का पालन हो सके। अब देखना यह है कि निर्धारित बजट में लोक निर्माण विभाग किस तरह से चंदौली जिले के कई खस्ताहाल सड़कों का कायाकल्प करने या उन्हें गड्ढा मुक्त करने में सफल हो पाता है।