जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
प्रोजेक्ट अलंकार से होगा हाईस्कूलों व इंटर कालेजों का कायाकल्प, 'प्रोजेक्ट अलंकार' में ऐसे मिलेगी धनराशि
चंदौली जिले के प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के कायाकल्प के लिए चलाई गई योजना का हाल चाहे जैसा भी हो लेकिन अब सरकार जर्जर और पढ़ने लायक नहीं रहने वाले हाईस्कूलों व इंटर कालेजों के कायाकल्प की योजना बना रही है।
 

हाईस्कूलों व इंटर कालेजों के कायाकल्प की योजना 
प्रोजेक्ट अलंकार से होगा हाईस्कूलों व इंटर कालेजों का कायाकल्प
प्रोजेक्ट अलंकार में ऐसे मिलेगी धनराशि

चंदौली जिले के प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के कायाकल्प के लिए चलाई गई योजना का हाल चाहे जैसा भी हो लेकिन अब सरकार जर्जर और पढ़ने लायक नहीं रहने वाले हाईस्कूलों व इंटर कालेजों के कायाकल्प की योजना बना रही है। इसके लिए परिषदीय विद्यालयों में चलाए जा रहे 'ऑपरेशन कायाकल्प' की तर्ज पर अब 'प्रोजेक्ट अलंकार' चलाया जाने वाला है। इससे जर्जर माध्यमिक स्कूलों की मरम्मत की जाएगी और वहां अवस्थापना सुविधाओं को विकसित किया जाएगा, ताकि स्कूलों में पढ़ने लिखने लायक माहौल बनाया जा सके।

 इस संदर्भ में शासन से आए पत्र का संज्ञान लेते हुए पहल शुरू की जानी है। जिलाधिकारी व जिला विद्यालय निरीक्षक को शासन ने पत्र भेजकर स्कूलों में अवस्थापना सुविधाओं की विकास की संभावनाओं पर एक रिपोर्ट मांगी है। जिला विद्यालय निरीक्षक को यह रिपोर्ट 27 अक्टूबर तक शासन को उपलब्ध करानी है, जिससे इस पर आगे की कार्य योजना बनाई जा सके।

कहा जा रहा है कि इस योजना के क्रियान्वयन के लिए जिलाधिकारी की ओर से तहसील स्तर पर उप जिलाधिकारियों के नेतृत्व में उप समितियों का गठन किया जाएगा और यह अधिकारी टीम बनाकर स्कूलों में जाकर भौतिक सत्यापन करेंगे और अपनी एक रिपोर्ट तैयार करेंगे और उसी रिपोर्ट के आधार पर शासन से धनराशि आवंटित किए जाने की उम्मीद है।

 अगर सरकार की यह योजना सफल रही तो इससे चंदौली जिले के कई कई जिलों में स्कूलों का जीर्णोद्धार हो जाएगा और वहां पर अवस्थापना सुविधाएं विकसित हो जाएंगी। फिलहाल जिले में 40 सहायता प्राप्त व राजकीय माध्यमिक विद्यालय हैं, जिनमें से कई खस्ता हालत में देखे जाते हैं।

कहा जा रहा है कि परिषदीय स्कूलों के जीर्णोद्धार के लिए सरकार आपरेशन कायाकल्प योजना संचालित कर रही है। इसके तहत विद्यालयों में शौचालय, पेयजल, विद्युतीकरण, कक्षों में टाइल्स, हैंडवाश, प्रोजेक्टर, कंप्यूटर, चहारदीवारी 14 बिंदुओं पर काम कराते हुए विकास कराया जा रहा है। शासन ने माध्यमिक स्कूलों को सुविधा संपन्न बनाने के लिए इसी तर्ज पर प्रोजेक्ट अलंकार शुरू किया है। इसके जरिए माध्यमिक स्कूलों में विकास कार्य कराए जाएंगे। स्कूलों के जीर्णोद्धार के साथ ही मूलभूत सुविधाएं विकसित की जाएंगी। 

जिला विद्यालय निरीक्षक डॉक्टर विजय प्रकाश सिंह का कहना है कि चंदौली जिले के माध्यमिक स्कूलों के जीर्णोद्धार व अवस्थापना सुविधाओं को विकसित करने के लिए 'प्रोजेक्ट अलंकार' की शुरूआत की गई है। स्कूलों की सत्यापन रिपोर्ट निर्धारित तिथि से पहले भेज दी जाएगी। शासन से आवंटित पैसे का सदुपयोग करते हुए स्कूलों में विकास कार्य कराए जाएंगे। यह स्कूलों के लिए काफी अच्छी खबर है।