जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
मुख्यमंत्री की सुरक्षा के नाम पर दे दी गयी 25 से अधिक पेड़ों की बलि, देखें तस्वीरें
सैयदराजा के इस इंटर कॉलेज में जब-जब चुनाव व रैली होती है तो उसके दौरान बड़े बड़े राजनेताओं की रैलियां करायी जाती हैं। इसके साथ मतदान व मतगणना के केन्द्र के रूप में इसका चयन होता है। ऐसे कई बड़े बड़े आयोजन करने का अवसर इस इंटर कालेज को मिला है, लेकिन इससे कभी भी इंटर कॉलेज को कोई खास फायदा नहीं हुआ।
 
मुख्यमंत्री की सुरक्षा के नाम पर दे दी गयी पेड़ों की बलि
सैयदराजा का नेशनल इंटर कॉलेज का हुआ नुकसान 

चंदौली जिले में 6 अक्टूबर को जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आए थे तो उन्होंने जी भर के कई परियोजनाओं की सौगात पूरे जिले को दी थी और लाखों रुपए उनके स्वागत में खर्च किए गए हैं, लेकिन इन सारी चीजों का एक संस्थान को कोई लाभ नहीं हुआ है,  वह जगह है सैयदराजा का नेशनल इंटर कॉलेज, जहां पर मुख्यमंत्री का उड़न खटोला उतरा था।

Trees Cutting in National Inter College

 सैयदराजा के इस इंटर कॉलेज में जब-जब चुनाव व रैली होती है तो उसके दौरान बड़े बड़े राजनेताओं की रैलियां करायी जाती हैं। इसके साथ मतदान व मतगणना के केन्द्र के रूप में इसका चयन होता है। ऐसे कई बड़े बड़े आयोजन करने का अवसर इस इंटर कालेज को मिला है, लेकिन इससे कभी भी इंटर कॉलेज को कोई खास फायदा नहीं हुआ।

 सैयदराजा के इस नेशनल इंटर कॉलेज की हालत अगर शनिवार को या इससे पहले कोई देखा होता तो पता चलता है कि मुख्यमंत्री के जाने के बाद इस इंटर कॉलेज में हेलीपैड बनाने के नाम पर जो कुछ भी किया गया वह प्रशासन की नजर में भले सही था, लेकिन आम लोग या स्कूल प्रशासन इसे कभी सही नहीं कहेगा। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री के जाने पर उसे जस का तस छोड़ दिया गया था। इससे विद्यालय और उस मैदान में खेलकूद व शारीरिक अभ्यास करने वाले बच्चों के लिए काफी मुश्किल होती रही। आज अफसरों व ठेकेदारों को स्कूल की य़ाद किसी के टोकने के बाद आयी है तो स्कूल से ईंटों को हटाने का काम शुरू कराया गया है।

Trees Cutting in National Inter College

 मुख्यमंत्री के आगमन के नाम पर अक्टूबर के पहले सप्ताह में ही इस मैदान को अधिग्रहित कर लिया गया और वहां पर तरह-तरह के कार्य शुरू कर दिए गए थे। इतना ही नहीं विद्यालय के पश्चिमी और उत्तरी छोर पर हरे भरे पेड़ों को भी मनमाने तरीके से काटा गया है। आप पेड़ों को देखकर इसका अंदाजा अपने आप लगा सकते हैं। मुख्यमंत्री की सुरक्षा के नाम पर जो यह कार्य किया गया है, उसे देखने वाला कोई भी व्यक्ति उचित नहीं ठहराएगा। 

 एक छात्र ने कहा कि एक ओर जहां पूरे प्रदेश में हरियाली फैलाने के लिए मुख्यमंत्री के द्वारा खुद ही लाखों-करोड़ों पौधे लगाने का दावा किया जाता है, वहीं उनके स्वागत में सुरक्षा के नाम पर अधिकारियों द्वारा मनमाने तरीके से हरे पेड़ों की बलि दे दी जाती है। यह ठीक बात नहीं है।

Trees Cutting in National Inter College

जब इस बारे में जब स्कूल प्रबंधन और वहां के कर्मचारियों से जानने की कोशिश की गई तो उन्होंने कहा कि पेड़ को कब और किसने काटा यह तो उन्हें नहीं पता है, लेकिन यह सब मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के कारण ही हुआ है। इसके बारे में शासन प्रशासन के किसी अफसर ने कॉलेज से कोई बात नहीं की और न ही किसी की परमीशन ली है। वन विभाग व जिला प्रशासन ने दिया हो तो उनको नहीं मालूम।

Trees Cutting in National Inter College

 वहीं एक स्थानीय नागरिक ने बताया कि वह कई सालों से देखते आ रहे हैं कि सैयदराजा के इस नेशनल इंटर कॉलेज में जब जब कोई बड़ा वीआईपी लेता आता है तो उससे इस इंटर कॉलेज को कोई फायदा नहीं होता, बल्कि नुकसान खूब होता है। कार्यक्रम खत्म होने के बाद अफसर व नेता अपना पल्ला झाड़ लेते हैं।