जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
दो विधवाएं अपनी जमीन पाने के लिए लगा रहीं गुहार, मारपीट पर उतारू हैं कब्जेदार
 

चंदौली जिले में सरकार ने महिला के लिए हेल्प डेस्क भी बना दिया, एंटी भू माफियाओं पर कार्यवाही का निर्देश भी दिया है। उसके बाद भी इन सास बहू विधवाओं को न्याय नही मिल पा रहा है।


बताते चलें कि सकलडीहा तहसील क्षेत्र के ग्राम सभा बलारपुर में 10 बीघे जमीनी विवाद को लेकर दो विधवा महिलाएं न्याय की आस में दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। 


जानकारी के अनुसार सकलडीहा कस्बा के कोट निवासिनी विधवा सुधा सिंह 62 वर्ष व पुत्रवधू विधवा रचना सिंह 35 वर्ष ने बताया कि उनकी पैतृक जमीन तहसील क्षेत्र के ग्राम सभा बलारपुर ने 10 बीघे आराजी नंबर 381 मौजूद है। जिस पर मेरे मैनेजर चंद्रमा यादव द्वारा धोखे से विपक्षीगणों को अवैध रूप कब्जा दिला दिया है। वही पीड़िता रचना सिंह ने बताया कि लंबी बीमारी के कारण ससुर के मृत्यु के बाद एक तरफ जहां परिवार गमगीन परिस्थितियों से गुजर रहा था वही बलारपुर के कुछ विपक्षी गण हम लोगों की जमीन हथियाने में लगे हुए है। इस बात की भनक लगने पर हम लोग अपनी जमीन पर पहुंचे तो विपक्षी गणों द्वारा दलित होने का फायदा उठाते हुए मारपीट पर उतर हो गए और हम लोगों को फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी भी देने लगे।


 इस बात को लेकर हम लोगों ने संपूर्ण समाधान दिवस में प्रार्थना पत्र भी दिया लेकिन उस पर भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई । इस बात से चिढ़कर विपक्षीगण हम लोगों के खिलाफ मुकदमा कराने के लिए जगह-जगह प्रदर्शन करने में लगे है।
 

इसी संदर्भ में थाना दिवस के दौरान उप जिलाधिकारी के समक्ष हम लोगों ने अपनी बात रखी जिस पर उपजिलाधिकारी ने उभय पक्षों की बातों को सुनते हुए विपक्षीगणों के खिलाफ कार्रवाई भी की और वही प्रशासन को कब्जा दिलाने के लिए निर्देश दिया है। इसके बावजूद भी अभी तक विपक्षियों द्वारा किए गए कब्जे को नहीं हटाया गया अब न्याय की आस में हम लोग दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर हैं। वही दोनों पीड़िता ने जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई है।