जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अंधेरगर्दी : सैयदराजा से बिहार जा रही है यूपी की खाद, सो रहे हैं अधिकारी, RPF ले रही 30 रुपए प्रति बोरी
 


चंदौली जिले के सैयदराजा रेलवे स्टेशन पर इस समय यूपी की यूरिया खाद बहुत तेजी से सैयदराजा बाजार से बिहार में जा रही है। इसके लिए जहां के व्यापारी व अफसरों की मिलीभगत देखी जा रही है। कहा जा रहा है कि बिहार में खाद चले जाने से जिले में खाद की किल्लत बढ़ जाती है।

हर साल की तरह चंदौली जिले के किसानों को इस साल भी खाद की किल्लत झेलनी पड़ रही है, क्योंकि जिले के अफसर खाद की कालाबाजारी व दूसरे राज्य बिहार में चले जाने की समस्या को जानकर भी अनजान बने बैठे रहते हैं।

बताते चलें कि चंदौली जनपद यूपी बिहार बॉर्डर का जिला है। जिसके कारण यहां की खाद पड़ोसी राज्य में धड़ल्ले से चली जाती है, जिसका नजारा यदि देखना है तो आप सैयदराजा स्टेशन पर जब बिहार जाने की ट्रेनों का समय होता है.. तो उस समय आ जाएं। यहां का नजारा बहुत दर्शनीय होगा। आज भी खाद की ब्लैक मार्केटिंग के कारण ये लोग चंदौली की खाद लेकर बिहार जा रहे हैं। 

UP Fertilizers going Bihar By Trains

किसानों का कहना है कि जनपद में खाद की कालाबाजारी कोई नयी बात नहीं है। इसमें अफसरों व खाद बेचने वालों की सांठगांठ रहती है। इसी के कारण यहां के किसानों को कॉफी किल्लत खाद मिलती है। वही यह भी पता चला कि स्टेशन पर तैनात आरपीएफ के सिपाही भी इस मौके का फायदा उठाने से नहीं चूकते हैं। खाद को बिहार जाने वाले लोगों से प्रति बोरी 30 तक की वसूली भी करते हैं। यह उनके लिए कमाई का नया जरिया बना है।

 अब देखना है कि इस खाद की कालाबाजारी पर रोक लगाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा किस प्रकार की पहल की जाती है या फिर खाद को लेन देन करते हुए बिहार भेजने का सिलसिला जारी रखा जाता है।