जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अगले सप्ताह के लिए मौसम की भविष्यवाणी, खेती बारी के लिए खास टिप्स
भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा प्राप्त मौसम के पूर्वानुमान व आंकड़ो के अनुसार आगामी सप्ताह में 13 नवम्बर से 17 नवम्बर तक जनपद में वर्षा होने की संभावना नहीं है
 

अगले सप्ताह के लिए मौसम की भविष्यवाणी

खेती बारी के लिए खास टिप्स

चंदौली जिले के कृषि विज्ञान केन्द्र और भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा प्राप्त मौसम के पूर्वानुमान व आंकड़ो के अनुसार आगामी सप्ताह में 13 नवम्बर से 17 नवम्बर तक जनपद में वर्षा होने की संभावना नहीं है, जबकि  बादल रहने का आसार है।    

चंदौली जनपद के विशेषज्ञों ने जानकारी देते हुए कहा है कि औसत अधिकतम तापमान 29.0 से 30.0 डिग्री सेंटीग्रेड के मध्य रहेगा। जिले में न्यूनतम तापमान 14.0 से 17.0  डिग्री सेंटीग्रेड के मध्य रहने की उम्मीद जताई जा रही है।  इसके साथ ही साथ आर्द्रता 76 % से 87% के मध्य रहेगी।  जिले में सामान्य गति से ज्यादातर पूर्वी- पश्चिमी दिशा की ओर हवा चलने की संभावना है। 

पराली प्रबंधन के बारे में सलाह
फसल अवशेष प्रबंधन के बारे में


किसानों को सलाह है कि खरीफ फ़सलों के बचे हुए अवशेषों को ना जलाऐ । इससे उत्पन्न धुंध के कारण सूर्य की किरणे फसलों तक कम पहुंचती है, जिससे फसलों में वाष्पोत्सर्जन व भोजन बनाने में कमी आती है इस कारण फसलों की उत्पादकता व गुणवत्ता प्रभावित होती है । 


सरसों की फसल के बारे में टिप्स


 समय पर बोई गई सरसों की फ़सल में विरलीकरण तथा खरपतवार नियंत्रण का कार्य करें।

धान 


किसान भाईयों को सलाह है मौसम को ध्यान में रखते हुए धान की फसल यदि कटाई योग्य हो गयी तो कटाई शुरू करें। फसल कटाई के बाद फसल को 2-3 दिन खेत में सुखाकर गहाई कर लें। उसके बाद दानों को अच्छी प्रकार से धूप में सूखा लें। भण्डारण के पूर्व दानों में नमी 12 % से कम होनी चाहिए।


गेंहू की बुआई पर सलाह


किसान भाईयों को सलाह है कि मौसम को ध्यान में रखते हुए गेंहू की बुवाई हेतु खाली खेतों को तैयार करें तथा उन्नत बीज व खाद की व्यवस्था करें। जिन खेतों में दीमक का प्रकोप हो तो क्लोरपाईरिफाँस (20 ईसी) @ 5 लीटर प्रति हैक्टर की दर से पलेवा के साथ दें। 


चना की खेती पर सलाह


किसान भाईयों को सलाह है कि तापमान को ध्यान में रखते हुए चने की बुवाई इस सप्ताह कर सकते है। बुवाई से पूर्व बीजों को राइजोबियम और पी.एस.बी. के टीकों (कल्चर) से अवश्य उपचार करें।


मसूर की खेती पर टिप्स


किसान भाईयों को सलाह है इस मौसम में किसान मसूर की बुवाई कर सकते हैं। उन्नत किस्म- पूसा मसूर–5 (एल. 4594)। बीजों को राइजोबियम और पी.एस.बी. के टीकों (कल्चर) से अवश्य उपचार करें।


लहसुन की खेती करें


किसान  भाई इस समय लहसुन की बुवाई कर सकते हैं। उन्नत किस्में –जी-1, जी-41, जी-50, जी-282.| खेत में देसी खाद और फास्फोरस उर्वरक अवश्य डालें।


कृषि विज्ञान केन्द्र चन्दौली वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ एस पी सिंह और विषय वस्तु विशेषज्ञ कृष्ण मुरारी पाण्डेय ने जानकारी देते हुए कहा है कि किसान मोबाईल नंबर  7566791798 पर किसी समय इस बारे में और भी जानकारी ले सकते हैं।