जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चकिया अहरौरा मार्ग झाड़ झंखाड़ दुर्घटना का दे रहे हैं दावत, प्रशासनिक अधिकारी साधे हैं मौन
वही रास्ते में जागेश्वर नाथ मंदिर के समीप स्थित 2-2 विद्यालय संचालित है। जिस पर वाहनों के अलावा आसपास के गांव से साइकिल तथा पैदल रास्ते से छात्र छात्राओं को आना जाना पड़ता है। 
 


चंदौली जिला के चकिया अहरौरा मुख्य मार्ग पर नेवाजगंज गांव के समीप रोड की पटरी भारी झाड़ झंखाड़ उग आए हैं, जिसके वजह से किसी भी क्षण बड़ा दुर्घटना होने का खतरा बना हुआ है। जानकारी के बाद प्रशासनिक अधिकारी मौन साधे हुए हैं।

चकिया अहरौरा मुख्य मार्ग पर जगह जगह पर झाड़ झंखाड़ को जैसे लोगों को आने जाने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। बता दें कि उक्त मार्ग से पर दिन भारी संख्या में छोटी बड़ी गाड़ियों का आना जाना लगा रहता है वही रास्ते में जागेश्वर नाथ मंदिर के समीप स्थित 2-2 विद्यालय संचालित है। जिस पर वाहनों के अलावा आसपास के गांव से साइकिल तथा पैदल रास्ते से छात्र छात्राओं को आना जाना पड़ता है। ऐसी स्थिति में किसी भी क्षण दुर्घटना होने का खतरा बना हुआ है। सब कुछ जानकारी के बाद भी विभागीय अधिकारी समस्या के निराकरण के लिए कोई कदम नहीं उठा रहे हैं।

स्मरण हो कि नेवाजगंज गांव के समीप झाड़ झंखाड़ के पास पिछले दिनों मार्ग से गुजरते वक्त एक बालिका का दुर्घटना हुआ था जिसमें उसका पैर फैक्चर हो गया था लेकिन अभी तक किसी विभाग ने ध्यान नहीं दिया। इसके अलावा आए दिन बड़ा दुर्घटना होने का भी खतरा बना हुआ है। आसपास के ग्रामीणों का आरोप है कि झाड़ झंखाड़ के वजह से जीव जंतु भी लोगों के घरों में पहुंच रहे हैं। वही चोरी की घटनाएं होने का भी आशंका बना हुआ है। 

ग्रामीण में चेताया है कि मार्ग से झाड़ झंखाड़ की सफाई नहीं कराई गई तो वह सड़क पर उतरकर आंदोलन करने को विवश होंगे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*