जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
आज गिद्धवा दरी से निकाली जाएगी दीनानाथ की लाश, निकालने में ली जाएगी एनडीआरएफ की मदद
वन विभाग के अनुसार खाई गहरी होने के कारण मुश्किल हो रही है। आज एनडीआरएफ की टीम की मदद ली जाएगी।
 

चकिया क्षेत्र के जमसोती के गिद्धवा दरी में गिरने से मौत

खोजबीन के बाद भी नहीं मिली लाश

आज भी होगा निकालने का प्रयास

चंदौली जिले के चकिया क्षेत्र के जमसोती के गिद्धवा दरी में रविवार को 50 वर्षीय दीनानाथ चौहान गिर गए थे। इसकी जानकारी जब उनके पुत्र ने मंगलवार की दोपहर पुलिस को दी तो हड़कंप मच गया। आनन फानन में पुलिस अधिकारी व वन विभाग की टीम पहुंचकर आधार की खोजबीन में जुट गई लेकिन अधेड़ नहीं मिला वन विभाग के अनुसार खाई गहरी होने के कारण मुश्किल हो रही है। आज एनडीआरएफ की टीम की मदद ली जाएगी वहीं घटना को लेकर तरह तरह चर्चाएं बनी है।

आपको बता दें शहाबगंज थाना क्षेत्र के अमाव गांव निवासी दीनानाथ चौहान के पुत्र सुधीर चौहान ने बताया कि बीते रविवार से ही उसके पिता घर नहीं पहुंचे थे।बताया कि दीनानाथ चौहान अपने साथी बिहार प्रांत के कैमूर जनपद के चांद थाना अंतर्गत रामपुर गांव निवासी अंगद और रमेश चौहान के साथ हरी राम, सकल, जामा यादव, रामबचन यादव,सोमर चौहान, भोला, छोटे और मनकर के साथ राजदरी, देवदरी गए थे।

सुधीर के अनुसार पिता के 2 दिन तक घर नहीं पहुंचने पर साथ गए लोगों से पूछताछ की गई। इस दौरान पिता के साथ ही मंगलवार की दोपहर जन्मशती के गिद्धवा दरी पहुंचे। जहां उन्होंने खाई में गिरे दीनानाथ के शव को दिखाया। वहीं घटना की जानकारी होने पर पिता के साथी फरार हो गए। इसके बाद सुधीर ने पुलिस को सूचना दी। 

सूचना के बाद मौके पर पुलिस क्षेत्राधिकारी रघुराज व थाना प्रभारी निरीक्षक दीनदयाल पांडेय ने फोर्स पहुंचकर अधेड़ का शव निकालने का प्रयास किया। लेकिन गहराई काफी होने के कारण शव को निकाला नहीं जा सका।वहीं सीओ रघुराज ने बताया कि आज एनडीआरएफ की टीम की मदद से अधेड़ का शव को निकाला जाएगा।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*