जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
माइनर में पानी न छोड़े जाने से सैकड़ों बीघा धान की रोपाई बाधित, आक्रोशित किसानों ने किया प्रदर्शन
चंद्रप्रभा नदी पर बने मुजफ्फरपुर बीयर से निकली लेफ्ट पथरहवा माईनर और उससे प्रभावित भरेहटां माईनर में अभी तक पानी नहीं पहुंचने से किसानों की सैकड़ों बीघा धान की रोपाई नहीं हो पाई है।
 

खेती बारी की अपनी समस्याओं से परेशान हैं किसान

सिंचाई के पानी के लिए कर रहे प्रदर्शन

चंदौली जिला में इस वक्त बारिश ना होने से धान की रोपाई को लेकर किसान परेशान है। ऐसी स्थिति में नहरों में पानी ना छोड़े जाने से धान की रोपाई बाधित हो रही है। जिसको लेकर चकिया विकासखंड के बुढ़वल गांव में किसान नेता विरेंद्र पाल के नेतृत्व में नहर में पानी छोड़े जाने की मांग को लेकर शनिवार को किसानों ने प्रदर्शन किया|

 तथा आरोप लगाया कि विभागीय अधिकारियों की मनमानी के चलते नहर में पानी टेल तक नहीं पहुंच पा रहा है जिससे किसानों के धान की रोपाई प्रभावित हो रही है|

आपको बता दें कि चंद्रप्रभा नदी पर बने मुजफ्फरपुर बीयर से निकली लेफ्ट पथरहवा माईनर और उससे प्रभावित भरेहटां माईनर में अभी तक पानी नहीं पहुंचने से किसानों की सैकड़ों बीघा धान की रोपाई नहीं हो पाई है। किसी तरह धान की नर्सरी को तैयार करने के बाद किसान खेतों की तैयारी करके बारिश का उम्मीद लगाए थे, मगर इंद्रदेव के रुठ जाने के कारण बारिश में होने से नहर के पानी का ही एकमात्र सहारा बचा हुआ है। बावजूद माइनर में पानी ना छोड़े जाने से धान की रोपाई प्रभावित हो रही है।

किसानों ने आरोप लगाया कि जब भी सिंचाई विभाग के अधिकारियों से पानी की समस्या से संबंधित शिकायत की जा रही है तो वे पल्ला झाड़ ले रहे हैं। जिससे उद्वेलित होकर किसानों को आंदोलन करने के लिए विवश होना पड़ा।

इस दौरान प्रदर्शन करने वाले किसानों में मोहन, जोखन, गुड्डू, वीरेंद्र सिंह, नंदू विश्वकर्मा, श्याम नारायण यादव , हरिहर, चंदन, अखत्तर मिर्जा, कन्हैया , चंद्रिका, अंगद, रामआश्रय सहित तमाम किसान मौजूद रहे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*