जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
विकास की किरण से अछूता है ग्राम पंचायत लालपुर, नाबदान के गंदे पानी के बीच से गुजरते हैं ग्रामवासी
चकिया विकास खंड मुख्यालय से लगभग 2 किलोमीटर दूरी पर स्थित तथा नगर पंचायत से सटा लालपुर गांव में जाने के मार्ग में लंबे समय से विकास की किरण न पहुंच पाई है। वहीं कीचड़ युक्त नाबदान के गंदे पानी के रास्ते ग्रामीणों और आमजनों के आवागमन में भारी परेशानी का सबब बना हुआ है।
 

चंदौली जिला के चकिया विकास खंड मुख्यालय से लगभग 2 किलोमीटर दूरी पर स्थित तथा नगर पंचायत से सटा लालपुर गांव में जाने के मार्ग में लंबे समय से विकास की किरण न पहुंच पाई है। वहीं कीचड़ युक्त नाबदान के गंदे पानी के रास्ते ग्रामीणों और आमजनों के आवागमन में भारी परेशानी का सबब बना हुआ है। ग्रामवासियों ने नाबदान के पानी की समुचित निकासी व मार्ग मरम्मत कराने की मांग की है।

बता दें कि लालपुर ग्राम पंचायत नगर पंचायत चकिया से सटा ग्राम पंचायत है । यहा ग्राम पंचायत के रास्ते चंदौली जनपद के मुख्य मार्ग का बाईपास मार्ग लालपुर गांव का मुख्य जुड़ा मार्ग है। उसी मार्ग से नगर पंचायत के वार्ड नंबर चार कबीर नगर, घटमापुर मार्ग भी जुड़ा हुआ है। जिस मार्ग के रास्ते ग्रामीणों के साथ ही अन्य नागरिकों का आवागमन भारी परेशानियों के बीच होती है। मार्ग पर नादान के पानी बिखरे हुए हैं मार्ग कीचड़ युक्त उबर खबर बरसात के मौसम में चारों तरफ कीचड़ का माहौल बना हुआ है। कीचड़ बना वरदान के पानी की समुचित व्यवस्था न होने से संक्रामक रोग फैलने की आशंका बनी हुई है जिसके चपेट में ग्रामीणों के सामने संकट बना हुआ है।

गांव के ग्रामीण रामधनी विश्वकर्मा, राम प्रसाद विश्वकर्मा, गुलाब, मिल्लू, जीऊत, राजेश कुमार, संतोष कुमार, सिंटू कुमार ने बताया कि खराब मार्ग से आवागमन करने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। मार्ग पर नाबदान के पानी की निकासी करने से लोगों को राहत मिलेगी।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*