जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
रोडवेज बसों के लिए संविदा पर चालकों की भर्ती, चकिया में जुटे बेरोजगार
परिवहन विभाग ने गेट बंद कर बाहरी व्यक्तियों से बेरोजगारों का फार्म जमा कराने का मामला प्रकाश में आया।
 

रोडवेज अधिकारियों पर मनमानी का आरोप

भाजपा नेताओं के हस्तक्षेप के बाद मिली राहत
 

चंदौली जिले के चकिया में सरकारी बस स्टैंड में संविदा चालकों की भर्ती प्रक्रिया आयोजित की गई थी। संविदा चालक भर्ती में जनपद सहित अन्य जिले के युवाओं का हुजूम सुबह से ही उमड़ चुका था। इस दौरान अधिकारियों पर मनमानी व हेराफेरी का भी आरोप लगा।

बताते चलें कि परिवहन विभाग ने गेट बंद कर बाहरी व्यक्तियों से बेरोजगारों का फार्म जमा कराने का मामला प्रकाश में आया। इसी बीच भर्ती के लिए आए बेरोजगार युवकों ने इसकी सूचना भाजपा मंडल अध्यक्ष संतोष सिंह को दिया। 

भीड़ को देखते ही मौके पर चौकी प्रभारी व कई सारे पुलिसकर्मी भी पहुंच गए। भाजपा नेता आशु गुप्ता, सारांश केशरी व सभासद राजेश चौहान पहुंच गए। पुलिस ने बाहरी व्यक्ति को कमरे से बाहर कराया। वहीं रोडवेज कर्मियों को भाजपा नेताओं ने चेताया कि निष्पक्षता के भर्ती करें। अन्यथा इस मामले को उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जायेगा। 

Roadways Bus Drivers

जमा किए गए फार्मों की छंटनी का कार्य नीचे करवाया गया, जिससे युवक खुद अपनी आंखों से देखते रहे। तब जाकर बेरोजगार युवाओं ने राहत की सांस ली। कुछ लोगों ने बताया कि संविदा बस चालकों की 40 की संख्या में भर्ती होनी है। स्थानीय बस स्टैंड पर ही गाड़ी चलाने के लिए भर्ती होनी है। लेकिन जब विभाग के लोग बाहरियों को मौका देंगे तो लोकल लोगों की भर्ती कैसे हो पाएगी। 

बता दें कि बुधवार की दोपहर 1:00 बजे से स्थानीय सरकारी बस स्टैंड में संविदा पर चालकों की भर्ती हो रही थी। बाहरी व्यक्ति के हावी होने पर विभाग के निष्पक्षता पर सवाल उठना लाजिमी हैं। मौके पर स्थानीय पुलिस चौकी इंचार्ज हरिकेश व बीजेपी के नेता पहुंच कर बाहरी व्यक्ति  को भर्ती स्थल से बाहर किया। तब जाकर बेरोजगार युवाओं ने राहत का सांस लिया। बेरोजगार युवाओं को उम्मीद जगी कि  नेताओं के आने से शायद उनकी बस चालक की पोस्ट पर नियुक्ति हो जाए।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*