जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चकिया के जिला संयुक्त चिकित्सालय पहुंचे SDM, NRC में भर्ती 2 वर्षीय कुपोषित का जाना हाल
एनआरसी में कुपोषित बच्चे के भर्ती होने की सूचना पर मंगलवार को उपजिलाधिकारी ने बाल विकास परियोजना अधिकारी के साथ एनआरसी जाकर बच्चे का हाल-चाल लिया।
 

पीड़ित बालक को उचित पोषण आहार और दवा दिलाने का दिया निर्देश

 


चंदौली जिला के चकिया उप जिलाधिकारी ज्वाला प्रसाद ने मंगलवार को चकिया जिला संयुक्त चिकित्सालय में पहुंचकर पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कुपोषित बच्चे शुभम 2 वर्ष का हालचाल जाना और उसको उचित पोषण आहार देने के साथ कारगर दवाएं देने का निर्देश अस्पताल प्रशासन को दिया।

बताते चलें कि महादेवपुर कला गांव के निवासी दशरथ के कुपोषित बड़े पुत्र सूरज 5 वर्ष की डायरिया के चलते 28 अगस्त को मौत हो गई थी। वहीं दूसरे छोटे पुत्र शुभम 2 वर्ष की हालत खराब थी। जिससे बाल विकास परियोजना अधिकारी राकेश बहादुर के निर्देश पर आंगनबाड़ी सहायिका आशा देवी द्वारा जिला संयुक्त चिकित्सालय के पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कराया गया था । फिलहाल शुभम की हालत में सुधार है।

वहीं एनआरसी में कुपोषित बच्चे के भर्ती होने की सूचना पर मंगलवार को उपजिलाधिकारी ने बाल विकास परियोजना अधिकारी के साथ एनआरसी जाकर बच्चे का हाल-चाल लिया। इस दौरान बच्चे का इलाज कर रहे बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर विनोद बिंद को बच्चे का अच्छी तरह इलाज करने व बाल विकास परियोजना अधिकारी को बच्चे और उसके परिवार के अन्य बच्चों का उचित पोषण सामग्री देने के निर्देश दिए।

 इसके अलावा SDM ज्वाला प्रसाद ने एनआरसी में भर्ती सभी मरीज परिजनों को अपने देखरेख में केला का वितरण कराया। वहीं कुपोषित बालक शुभम के पिता दशरथ को अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने का भी आश्वासन दिया।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*